PM Modi In US Visit: भारत की आजादी को लेकर बोले पीएम मोदी, कहा- भारतवासियों से सैकड़ों साल पहले आत्मविश्वास छीन गया लेकिन अब…

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रोनाल्डो रीगन में भारतीय समुदाय को संबोधित किया और कहा कि आप सबने जो अमेरिका में एक भारत श्रेष्ठ भारत की तस्वीर बनाई है इसके लिए आप सबको बधाई देता हूं, मुझे अमेरिका में जितना सम्मान मिल रहा है इसका श्रेय अमेरिका में आपकी मेहनत और अमेरिका के विकास के लिए किए जा रहे आपके प्रयासों को जाता है. बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने अमेरिका दौरे के दौरान कई बड़ी बातों का जिक्र किया जिसका भारत और अमेरिका के रिश्ते पर भी काफी असर देखने को मिल सकता है.

3uTools 

UAD Ultimate Bundle VST Crack

KORG-TRITON VST Crack

 

पीएम के संबोधन की बड़ी बातें

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पीएम मोदी ने अपने संबोधन के दौरान कई बड़े बातों का जिक्र किया जिसमें फाइनेंस से लेकर विकास तक की बातें शामिल रहीं. वहीं, बिजनेस,  भारत की आज़ादी और गुलामी की बातों का भी जिक्र प्रधानमंत्री ने संबोधन के दौरान किया. उन्होंने कहा कि, ‘भारत और अमेरिका के रिश्तों की एक नई यात्रा शुरू हुई है.  यह यात्रा ग्लोबल स्ट्रैटेजिक पार्टनरशिप की हमारे कन्वर्जन और मेक इन इंडिया के कोऑपरेशन की है. इंडस्ट्रियल सप्लाई में बढ़ते चेन की दिशा में दोनों देश मजबूत कदम उठा रहे हैं.’ वहीं, उन्होंने आगे कहा कि, गूगल, माइक्रोन जैसी बड़ी कंपनियों ने भी भारत में इन्वेस्टमेंट की घोषणा की है. माइक्रोन 2.5 बिलियन डॉलर का निवेश भारत को वर्ल्ड सेमिकंडर चेन से जोड़ने वाला है. 400 बिलियन डॉलर का निवेश भारत में सेमीकंडक्टर बनाने में मदद करेगा…

आत्मविश्वास लौट आया- पीएम मोदी

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत की गुलामी और आत्मविश्वास को लेकर कहा कि, ‘भारत में हो रही इस प्रगति का सबसे बड़ा कारण है भारत का आत्मविश्वास. 140 करोड़ भारतवासियों का आत्मविश्वास है, सैकड़ों साल की गुलामी ने ये आत्मविश्वास उनसे छीन लिया था लेकिन आज जो नया भारत हमारे सामने है उसमें वो आत्मविश्वास लौट आया है. यह वो नया भारत है जिसे अपना रास्ता पता है, दिशा पता है. यह वह भारत है जिसे अपने निर्णय और संकल्पों पर कोई असंमजस्य नहीं है और यह वह भारत है जो अपने पोटेंशियल को परफॉर्मेंस में बदल रहा है.’ बताते चलें कि पीएम मोदी के अमेरिकी दौरे को दोनों देशों के रिश्तों के हिसाब से काफी खास माना जा रहा है, देखना होगा कि भारत के पीएम और अमेरिकी राष्ट्रपति की मुलाकात का दोनों देशों के लिए क्या फायदा होता है.