यूपी के सबसे अमीर सांसद मलूक नागर की संपत्ति की जा रही है ज़ब्त, जानिए क्या है वजह

Date:

बसपा के सांसद मलूक नागर की सम्पत्ति हो गयी है ज़ब्त, आपको बता दें कि बसपा सांसद मलूक नागर बहुत बड़े व्यवसायी है। और साथ साथ उनके पास नॉएडा में रियल स्टेट के बड़े बड़े प्रॉजेक्ट भी थे। बहुत टाइम तक वो इस प्रॉजेक्ट से जुड़े रहे थे। लेकिन सांसद बनने के साथ ही वो रियल स्टेट के प्रॉजेक्ट से हट गये। और रियल स्टेट में भी उन्होंने अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया । आपको बता दें कि , बिजनौर लोक सभा सीट से बसपा के सांसद मलूक नागर और उनके भाई की सारी सम्पत्ति को SBI बैंक ने अपने क़ब्ज़े में ले लिया है । यहा तक की SBI ने एक विज्ञापन भी निकाला जिसमें लिखा था- उन्होंने डेयरी प्राइवेट लिमिटेड को क़र्ज़ दिया था, जसकी गारंटी ली थी सांसद मलूक नागर और उनके भाई राजवीर नागर ने यानि के इसमें वो दोनों गारंटर थे। उन्हें बैंक की तरफ़ से एक नोटिस भी दिया गया था 12 जून 2017 को , जिसमें लिखा था कि, 60 दिन के अंदर उन्हें 53 करोड़ 65 लाख 7 हज़ार 866 रुपए का भुगतान करना है । लेकिन उन्होंने इसे नज़रंदाज़ किया और अभी तक भुगतान नहीं किया इसलिए वो राशि लगातार बढ़े जा रही है। आपको बता दें कि , मलूक नागर ने लोकसभा चुनाव के दौरान सबसे अमीर प्रत्याशी के रूप में अपना नाम लिखवाया था । 294 करोड़ अपनी संपत्ति भी बतायी थी।

बैंक का दावा है कि नागर डेयरी ,मलूक नागर और उनके भाई राजवीर नागर की मेरठ और हापुड़ ज़िले की सम्पत्ति को 9 दिसंबर को बैंक ने अपने क़ब्ज़े में ले लिया है । और साथ ही बैंक ने आगाह किया है की इन सम्पत्तियों को लेकर कोई भी लेन देन न करे। हालाँकि मलूक नागर ने बैंक की इस कार्यवाही को ग़लत बताया है और कहा की उनका इस मामले से कोई लेना देना नहीं हैं। उनका कहना है की पिछले साल से वो इस डेयरी का हिस्सा नहीं है ।

उन्होंने आगे बोला है कि यह मामला उनका नहीं उनके भाई का है और बैंक से उनकी इस सम्बंध में कोई बात चीत नहीं हुई है । और उन्होंने कहा की 16 करोड़ रुपए बैंक को जमा किए जा चुके है। और बैंक ने उन्हें और पैसे जमा करने का टाइम दिया था । इसके बाद इस तरह की कार्यवाही करना ग़लत है। इस मामले के पूरे काग़ज़ात मेरे पास है।

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related