2007 WC : 15 साल बाद जोगिंदर ने किया बड़ा खुलासा, 2007 वर्ल्ड कप फाइनल में कप्तान धोनी ने कही थी ये बात!

Date:

Follow Us On

दक्षिण अफ्रीका के जोहान्सबर्ग का मैदान तारीख 24 सितंबर 2007 और पल था पहला टी20 वर्ल्ड कप फाइनल में पाकिस्तान और भारत का मुकाबला। और इस मुकाबले में टीम इंडिया ने पाकिस्तान को 5 रन से शिकस्त दी थी। पाकिस्तान को आखिरी ओवर में जीत के लिए 13 रन की जरूरत थी, लेकिन जोगिंदर शर्मा की सूझबूझ भरी गेंदबाजी ने टीम इंडिया को धमाकेदार जीत दिला दी।

जीत के पूरे हुये 15 साल

भारतीय क्रिकेट टीम की जीत के शनिवार को पूरे 15 साल हो गए। यह पिछले 24 सालों में भारत का पहला वर्ल्ड कप खिताब था और फिर इस सुपर जीत के हीरो जोगिंदर शर्मा से बेहतर इस जीत कौन जान सकता हैं? मीडियम पेशर शर्मा ने 2007 टी20 विश्वकप फाइनल का अंतिम ओवर डाल कर भारत को पांच रन से जीत दिलाने में मदद की थी.

तुम अपना काम करो, हार की ठीकरा मुझ पर आएगा

अंतिम ओवर में टीम इंडिया को जीत के लिए 13 रन चाहिए थे। इन-फॉर्म मिस्बाह-उल-हक मैच को भारत से दूर ले जा रहे थे। ऐसें में कैप्टन कूल ने एक जुआ खेला और गेंद थमाई पहले गेदबाजी में पिट चुके जोगिंदर शर्मा को। और कहा तुम किसी भी तरह का दबाव मत लो, अगर हम हारते हैं, तो यह मेरे ऊपर आएगा।”

शर्मा ने वो लम्हा याद करते हुये कहा , ” जब मिस्बाह ने तीसरी गेंद पर छक्का लगाया, तब भी हम दबाव में नहीं थे। किसी भी समय, माही ने ये चर्चा नहीं की कि हमें क्या करने की जरूरत है। अगली डालने से ठीक पहले मैंने देखा कि मिस्बाह स्कूप खेलने के लिए तैयार हो रहे हैं। इसलिए मैंने गेंद को पीछे करके धीमी गेंदबाजी की और गेंद मिस्बाह ठीक से हिट नही कर पाये क्योंकि गेंद बल्ले के बीच में लग कर हवा में उछल गयी, श्रीसंत ने कैच लपका और ट्रांफी भी।

Share post:

Popular

More like this
Related