इस सावन, अपने सभी कष्टों को दूर करने के लिए महादेव को चढ़ाएं ये पांच चीजें

Date:

Follow Us On

बारिश की फुहारों के साथ ही सावन का महीना शुरू हो चुका है. सावन के महीने को महादेव अर्थात भोलेनाथ का प्रिय महीना कहा जाता है. हमारे शास्त्रों में वर्णित है कि सावन महीने में भगवान् विष्णु योगनिद्रा में चले जाते है और इसी वजह से यह समय भक्तो और समस्त साधू-संतों के लिए बहुत ही अमूल्य है.. सावन महीने को बारिश का महीना भी कहा जाता है क्योंकि इस माह में वर्षा का आरंभ होता है. इस माह में भिन्न-भिन्न प्रकार के धार्मिक उत्सवों का आयोजन किया जाता है और विशेष तौर पर सोमवार को पूजा जाता है. सोमवार की महत्वता इस महीने में इतनी ज़्यादा इसलिए होती है क्योंकि इस दिन को भगवान् शिव का एक विशेष एवं प्रिय दिन माना जाता है. पौराणिक कथाओं में कहा गया है कि माता पार्वती ने भगवान् शिव को अपने वर के रूप में पाने के लिए सावन महीने में काफी कठोर तपस्या की जिससे प्रसन्न होकर भगवान् शिव ने उनकी मनोकामना पूरी की. यही एक कारण है जिसके परिणामस्वरुप कुवारी कन्या सावन महीने के हर सोमवार को उपवास रख कर शिव जी को प्रसन्न करती हैं ताकि उन्हें उनका मन चाहा वर मिले. एक मान्यता यह भी है कि सावन महीने में शिव जी ने धरती पर आकर अपने ससुराल में विचरण किया था जहाँ उनका स्वागत भव्य अभिषेक से किया गया था. और यही एक कारण है कि हम सब सावन महीने में शिव जी का अभिषेक कर उन्हें प्रसन्न करते हैं.

इस पावन माह में शिवजी को प्रसन्न करने के लिए और भी कई अन्य चीज़ें हैं. आइए जानते हैं क्या हैं कुछ ख़ास पांच चीज़ें जिनसे आप भी कर सकते हैं शिवजी को खुश….


सावन में शिवजी को जल, दूध ,धतूरा, भांग, बेल पत्र,आदि अर्पित करने से हर कष्ट का नाश हो जाता है. इस बार सावन का महीना 14 जुलाई से आरम्भ हो रहा है और 12 अगस्त को ख़त्म हो जाएगा. हर बार की तरह इस बार भी भक्तों के बीच एक ख़ुशी की लहर दौड़ी है क्योंकि इस सावन भक्तो को पूरे 29 दिन अपने आराध्य शिवजी की भक्ति करने का अवसर मिलेगा.

वैसे तो भगवान शिव को कई चीज़ें प्रिय हैं लेकिन पांच चीजें ऐसी हैं जो उनके ह्रदय के बहुत करीब हैं और आपके लिए लाभकारी हो सकती हैं.


1. भांग : कहा जाता है कि भांग से शिवजी का श्रृंगार करने से वह काफी प्रसन्न होते हैं.

2. धतूरा : कहा जाता है कि शिवजी को धतूरा बहुत प्रिय है. जो भी शिवजी को धतूरे का चढ़ावा चढ़ाता है उसे पुत्र प्राप्ति होती है.

3. बेल पत्र : शास्त्रों के अनुसार बेल पत्र की जड़ों में स्वयं भगवान् शिव का वास होता है और यदि इसे चढ़ावे के तौर पर शिवजी को अर्पण किया जाये तो सारे संकट दूर हो जाते हैं.

4. शमी के पत्ते : शमी के पत्ते शिव जी को चढ़ाना बहुत ही लाभकारी माना जाता है. कहा जाता है कि शमी का पेड़ शनिदेव का होता है. इसलिए अगर आप शमी का पत्ता शिवजी को चढ़ाएंगे तो शिवजी के साथ-साथ शनि देव भी आपसे प्रसन्न होंगे.

5. आक या मदार के फूल : कहा जाता है कि लाल और सफ़ेद रंग के आंकड़े के फूल

Share post:

Popular

More like this
Related