भारत से ये 5 बेहद बेशकीमती चीजें चुराकर भागे थे अंग्रेज, ब्रिटेन म्यूजियम में रखी गई इन चीजों की कीमत है अरबों में

Date:

Follow Us On

ये तो आपको पता ही है कि अंग्रेजों ने कई सालों तक भारत पर राज किया था. जिसके बाद जब अंग्रेज भारत छोड़कर ब्रिटेन जा रहे थे तो अंग्रेजों ने भारत में जमकर लूटपाट मचाई थी. आप इस बात अनजान होंगे कि ब्रिटेन ने भारत के अलावा दुनियाभर से भी कुछ ना कुछ चीजें चुराई ही थी, लेकिन अंग्रेजों ने हमारे देश से कुछ ऐसी चीज़ें चुराई हैं जिनकी कीमत इस समय अरबों रुपयों में हैं. अगर आपको हमारी इस बात पर ज़रा भी यकीन नहीं हो रहा तो आप ब्रिटिश म्यूजियम में खुद जाकर इन सभी बेशकीमती चीज़ों को वहां पर सजाकर रखा हुआ खुद देख सकते हैं. आपको ये जानकर आश्चर्य होगा कि इन सभी चीज़ों के नीचे आपको ये पढ़ने को मिल जाएगा कि कौन सी चीज़ ब्रिटेन किस देश से चुराकर लाया है और उस चीज़ की कीमत अब करोड़ों में है या अरबों रुपयों में. तो चलिए आप भी जान लीजिये भारत की कौन सी चीज़ें ब्रिटेन के म्यूजियम में सजाई गयी हैं.

5. इथियोपियाई पांडुलिपियों

भारत में ऐसी एक नहीं बल्कि बहुत सी बेशकीमती चीज़ें हैं जिनको ब्रिटेन भारत से जाते हुए अपने साथ चुराकर ले गया था. साल 1869 में मगदल के युद्ध के समय अंग्रेज़ों ने इथियोपिया के सम्राट को कड़ी पटकनी दी थी और फिर अपने साथ उन सभी पांडुलिपियों को चुराकर ले गए थे. अंग्रेजों ने इस लड़ाई को पांडुलिपियों को लेकर ही शुरू किया था. बता दें कि आज 12 इथियोपियाई धार्मिक पांडुलिपियों के अलावा भारत की और भी बहुत सी बेशकीमती चीज़ें ब्रिटेन में मौजूद है.

Source: The Wire

4. शाहजहाँ का वाइन कप

शाहजहाँ के आलीशान महल की खूबसूरती को और ज़्यादा बढ़ाने के लिए बहुत सी खूबसूरत चीज़ें वहाँ पर रखी गई थी. वहीँ बात की जाए शाहजहाँ के महखाने की तो शाहजहाँ के महखाने की शोभा में चार चाँद लगाने के लिए महखाने में बहुमूल्य रत्नों से बना हुआ एक बेशक़ीमती वाइन कप रखा हुआ था. ये वाइन कप महल की सजावट में चार चाँद लगाता था, लेकिन शाहजहाँ के महल को अंग्रेजों की आँख लग चुकी थी. कहा जाता है कि एक दिन कर्नल चार्ल्स सेल्टों की नजर उस बेशक़ीमती वाइन कप पर पड़ी और उसने इसे चुराने में ज़रा भी देर नहीं लगाई. इस समय इस वाइन कप को आप विक्टोरिया एंड एल्बर्ट म्यूजियम में देख सकते है.

Source: The Art Blog

3. रोसेत्ता स्टोन

रोसेत्ता स्टोन एक बहुत ही ऐतिहासिक पत्थर है जिसके ऊपर 3 अलग-अलग भाषाओं से लिखा गया हैं. ये सभी भाषाएं मिस्र की ही है जिनको हर कोई नहीं पढ़ सकता है. इस ऐतिहासिक पत्थर को सबसे पहले नेपोलियन मिस्त्र से लेकर आया था. फिर फ्रांसीसी सेना को हराकर अंग्रेजों ने इसे चुराकर अपने कब्ज़े में ले लिया था. इस समय ये पत्थर लंदन के एक ब्रिटिश संग्रहालय में रखा गया है.

Source: British Museum

2. टीपू सुल्तान की अंगूठी

टीपू सुल्तान के बारे में हर किसी ने इतिहास में कभी ना कभी पढ़ा ही होगा. बताया जाता है कि साल 1799 में टीपू सुल्तान और अंग्रेजों के बीच भयंकर युद्ध हुआ था. इस युद्ध में टीपू सुल्तान वीरगति को प्राप्त हुए थे. टीपू सुल्तान के मरने के बाद अंग्रेजों ने उनके शरीर से तलवार और ऊँगली में लगी अंगूठी को चोरी कर लिया था. हालांकि अंग्रेजों ने टीपू सुल्तान की तलवार तो भारत को लौटा दी थी, लेकिन टीपू सुल्तान की अंगूठी अंग्रेजों ने आजतक अपने पास रखी है. यहां तक की ब्रिटेन ने टीपू सुल्तान की अंगूठी भारत को वापस देने से भी साफ़ इनकार कर दिया है. कहा जाता है कि ब्रिटेन ने अंगूठी को 1,45,000 पाउंड में नीलाम कर दिया था. बता दें कि टीपू सुल्तान की अंगूठी पर भगवान राम का नाम देवनागरी में लिखा हुआ है.

Source: Aaj Tak

1. कोहिनूर

कोहिनूर का नाम तो सभी ने बहुत बार सुना होगा. आंध्र प्रदेश की कोयले की खदान से निकला कोहिनूर पूरी दुनिया में मशहूर है. ये कोहिनूर मुगल बादशाह के मयूर सिंहासन में सुसज्जित था. इसके बावजूद 1849 में ईस्ट इंडिया कंपनी ने इसे महारानी विक्टोरिया को सौंप दिया था. बता दें कि कोहिनूर का वजन 21.6 ग्राम है और 105.6 मीट्रिक कैरेट का हीरा है.

Source: Jagran

फिलहाल इसको टावर ऑफ़ लंदन के ज्वेल हाउस में रखा हुआ है. वहीँ बात की जाए कोहिनूर की कीमत की तो कोहिनूर की कीमत अरबों में बताई जाती है.

Share post:

Popular

More like this
Related