कोरो’ना मामले पर सीएम योगी ने कहा ‘स्वास्थ्यकर्मियों साथ किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी’

528

एक तरफ कोरो’ना वायरस का देश के अंदर प्रकोप बढ़ता जा रहा हैं. जिसको लेकर देशव्यापी लॉक डाउन किया गया हैं. कोरो’ना वायरस से बचाओ के लिए उत्तर प्रदेश के मुखिया योगी भी पूरी तरह से लगे हुए हैं. योगी अपने काम के लिए और फैसलों के लिए ही जाने जाते हैं. उन्होंने यूपी के लिए कोरो’ना काल में कई अच्छे फैसले लिए हैं जिसकी तारीफ भी हो रही हैं.

वही दूसरी ओर योगी को काम में किसी भी तरह की कोई लापरवाही बर्दाशत नहीं होती हैं. उत्तर प्रदेश के अंदर पीपीई किट को लेकर खबर आ रही है कि यूपी में इसकी कमी है. इसको लेकर योगी का पारा चढ़ गया. योगी ने कहा कि कर्मवीर कोरो’ना महामारी से बचाने के लिए पूरी शिद्दत से लगे हुए हैं. वहीँ इन सबके बीच लगातार उत्तर प्रदेश में पीपीई (पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट) किट्स की कमी को लेकर लगातार खबरे सामने आ रही हैं. सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ ने पीपीई किट्स की उपलब्धता को लेकर सख्त रुख अख्तियार कर लिया है.

सूत्रों के मुताबिक, कोरो’ना से हर स्तर पर लड़ाई के लिए यूपी सरकार द्वारा बनाई गई ‘टीम-11’ के साथ बैठक में सीएम योगी ने पीपीई किट्स की कमी को जल्द पूरा करने के निर्देश दिए. बैठक में सामने आया कि ट्रक इत्यादि से पीपीई किट्स विभिन्न स्थानों पर पहुंचाने में समय लग रहा है. इसपर सीएम योगी ने सख्त लहजे में कहा, ‘मेरे प्रदेश की जनता की सेवा में लगे स्वास्थ्यकर्मियों को मैं किसी भी हालत में खतरे में नहीं डाल सकता. अगर सड़क मार्ग से पीपीई किट्स को विभिन्न स्थानों पर पहुंचाने में समय लग रहा है तो लॉकडाउन में खाली पड़े स्टेट हेलिकॉप्टर्स का इस्तेमाल करिए और जल्द से जल्द सभी स्वास्थ्यकर्मियों को पीपीई किट उपलब्ध कराइए.’

योगी ने साफ़ लहजे में कह दिया है कि हम अपने डॉक्टर या स्वस्थ्कर्मियों के साथ किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी. आपको बता दें कि जब देश में कोरो’ना वायरस ने अपने पांव पसारने शुरू ही किए थे, तभी सीएम योगी ने राज्य के 11 वरिष्ठतम अधिकारियों के नेतृत्व में 11 टीमें बनाई थीं. ये टीमें लगातार कोरो’ना से लड़ाई में जुटी हैं. इन टीमों को अलग-अलग जिम्मेदारी दी गई हैं. सीएम योगी हर रोज इन टीमों के प्रमुखों के साथ मीटिंग करते हैं और अपडेट लेते रहते हैं.

कोरो’ना वायरस शुरु होने से पहले ही योगी सख्त फैसले लेते थे. वही आज भी उनके अंदर हैं. योगी आदित्यनाथ किसी भी काम में न सुनना पसंद नहीं करते हैं. और न ही किसी तरह की उनको लापरवाही पसंद हैं इसी वजह से उन्होंने ने सख्त निर्देश जारी कर के कहा हैं कि पीपीई किट को कैसे भी कर कर के प्रदेश में लाइ जाएँ.