स्वस्थ प्रवासी मजदूरों को लेकर योगी आदित्यनाथ ने दिया ये निर्देश

439

आज देश के अंदर लॉकडाउन 2.0 समाप्त हो रहा हैं. कोरोना महामारी को देखते हुए सरकार ने लॉकडाउन को 2 हफ्ते के लिए आगे बढ़ा दिया है. कोरोना वायरस की वजह से आज देश में लॉक डाउन की स्तिथि बनी हुए हैं और इसी की वजह से आज मजदूर अलग अलग जगह पर फं’से पड़े हैं.

प्रवासी मजदूरों को वापस लाने की इजाज़त गृह मंत्राल्य ने तीसरे लॉकडाउन में दे दी हैं. लेकिन कुछ शर्तों के साथ प्रदेश अपने अपने लोगों को बुला सकता हैं. जो दूसरे प्रद्शों में फं.से हैं. उत्तर प्रदेश सरकार ने राजस्थान के कोटा में फंसे छात्रों और हरियाणा से प्रवासी मजदूरों को पहले ही वापस बुला लिया था. दिल्ली से भी श्रमिक वापस लाए गए थे.

जो श्रमिक दूसरे राज्यों से वापस लाये जा रहें हैं उन सबको क्वारनटीन सेंटर पर रखा जायेगा. इसके बाद राज्य सरकार ने क्वारनटीन सेंटर पर ही स्क्रीनिंग करवाएगी उसके बाद जो श्रमिक स्वस्थ होंगे उनको होम क्वारनटीन में भेजा जायेगा. यह निर्देश उत्तर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने समीक्षा बैठक के बाद दिए. मुख्यमंत्री ने ये भी कहा कि स्वस्थ श्रमिकों को राशन की किट देकर होम क्वारनटीन में भेज दिया जाए.

यूपी के मुखिया योगी ने आदेश दिया है कि प्रत्येक क्वारनटीन सेंटर में अच्छा और पर्याप्त भोजन लोगों के लिए उपलब्ध कराया जाए. साथ में ये भी निर्देश दिया है कि क्वारनटीन सेंटरों का समय समय पर निरीक्षण करते रहें.

मुख्यमंत्री ने जनधन खाताधारकों से रुपे कार्ड का उपयोग कर धन निकासी की अपील की और अधिकारियों से कहा है कि लाभार्थियों के खाते में भरण-पोषण भत्ते की धनराशि जल्द भिजवाई जाए ताकि उन लोगों को किसी प्राकर की कोई दिक्कत न हो. योगी ने कहा इमरजेंसी सेवाओं को भी शूरु किया जाए लेकिन प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए.योगी ने कहा कि प्रदेश के अंदर किसी भी प्रकार की गरीबों को दिक्कत का सामना नही करना पड़ेगा. उन्हे समय समय पर खाना पानी मिलता रहेगा.