कोरोना संदिग्ध विदेशियों पर योगी सरकार करेगी ये बड़ी कार्रवाई !

देश में कोरोना के कहर के चलते सरकारों की नींद उड़ी हुई है. केंद्र सरकार और राज्य सरकारें इस महामारी से निपटने के लिए एक के बाद एक बड़े कदम उठा रही हैं. जिससे कैसे भी करके इस महामारी से बचा जा सके. देश के प्रधानमंत्री ने लगातार बिगड़ रहे हालात के चलते समय पर 21 दिन का लॉकडाउन कर दिया नहीं तो आज परिणाम और भी भयावह हो सकते थे लेकिन विदेश से आए कोरोना संदिग्ध और जमातियों ने छिपकर सरकार को मुश्किल में डाल दिया है.

जानकारी के लिए बता दें निजामुद्दीन की मरकज में शामिल हुए जमाती और विदेशी नागरिकों के चलते सरकार की नींद उड़ी हुई है. भारत के मरीजों में अधिकतर जमाती ही शामिल हैं और अभी भी देश के अलग-अलग हिस्से में फैले हुए हैं. सरकार कई बार कह चुकी हैं कि वह लोग खुद सामने आ जाएँ जिससे और लोगों की जिंदगी खतरे में न पड़े.

वहीं उत्तरप्रदेश में योगी सरकार इस बीमारी से निपटने के लिए एक के बाद एक बड़े कदम उठा रही है जिससे इस वायरस को फैलने से रोका जा सके. अब योगी सरकार ने लखनऊ में कोरोना वायरस के संदिग्ध विदेशियों से निपटने के लिए बड़ा कदम उठाया है. योगी सरकार ने ऐलान किया है कि कोरोना वायरस के संदिग्ध विदेशियों के पासपोर्ट जब्त किये जायेंगे.

गौरतलब है कि 2 हफ़्ते पहले कोरोना के संदिग्ध विदेशी यात्रियों को पकड़ा गया था. जिसके बाद इन्हें लोकबंधु अस्पताल में क्वारंटाइन किया गया था. वहीं योगी सरकार ने इन सभी लोगों के खिलाफ केस भी दर्ज किया है. अब कोरोना संदिग्ध विदेशियों के पासपोर्ट जब्त करने के आदेश दिए गये हैं. इन विदेशियों की निगरानी की जिम्मेदारी पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय ने संयुक्त पुलिस आयुक्त एंड आर्डर नवीन अरोरा को सौंपी है. यूपी में अब तक 6052 लोगों में कोरोना जैसे लक्षण मिले हैं जिनमें से 483 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है और 8836 लोगों को क्वारंटाइन में रखा गया है.