योगी सरकार ने बनाया एक और नया कानून, अब अगर कोरोना वारियर्स पर थूंका या अभद्रता की तो जान लो क्या होगा!

कोरोना के बढ़ रहे कहर ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है क्योंकि एक तरफ जनता को ढील देने की सोच रही है और बड़े कदम उठा रही हैं. वहीँ दूसरी ओर हर दिन कोरोना के बढ़ रहे मरीजों के आंकड़ों ने सरकार की बेचैनी बढ़ा दी है. लॉकडाउन में मिली छूट के दौरान पिछले कई दिनों से रिकॉर्ड तोड़ मरीज बढ़ रहे हैं. बीते दिन करीब 3 हजार और उससे पहले 4 हजार मरीज बढ़ने के बाद अब भारत में कोरोना से मरीजों की संख्या 47 हजार के पार हो गयी है.

जानकारी के लिए बता दें कोरोना के कहर के बीच उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक के बाद एक करके बड़े कदम उठा रहे हैं. इसी बीच एक बड़ी खबर आ रही है जिसे जानने के बाद आप भी दंग रह जायेंगे. कोरोना वारियर्स को लेकर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने बड़ा फैसला लिया है. दरअसल अब यूपी सरकार ने स्वास्थ्यकर्मियों के साथ ही सफाईकर्मियों और सुरक्षाकर्मियों की सुरक्षा को लेकर नया कानून बनाया है.

सीएम योगी आदित्यनाथ ने बड़ा फैसला लेते हुए उत्तरप्रदेश लोकस्वास्थ्य एवं महामारी रोग नियंत्रण अध्यादेश 2020 को योगी कैबिनेट ने पास भी कर दिया है. यूपी सरकार के नए कानून के तहत अब जितने भी कोरोना वारियर्स हैं जैसे स्वास्थ्यकर्मी, पैर मेडिकल स्टाफ और पुलिसकर्मियों के साथ सुरक्षाकर्मियों के साथ ही शासन की तरफ से किसी भी कोरोना वारियर्स के साथ अगर आप अभद्रता करते हैं तो आपको 6 माह की जेल से लेकर 7 साल तक की सजा और साथ ही 50 हजार से लेकर 5 लाख तक का जुर्माना भी लग सकता है.

गौरतलब है कि अब उत्तरप्रदेश में कोरोना वारियर्स पर थूकने या गंदगी फेंकने या आइसोलेशन नियम तोड़ने पर भी कड़ी कार्रवाई का प्रावधान किया गया है. इतना ही नहीं कोरोना वारियर्स के खिलाफ समूह को उकसाने या भड़काने पर भी सख्त कार्रवाई करने के निर्देश जारी किये गये हैं, ऐसा करने वालों के लोगों को 2 से 5 साल तक की सजा और 50 हजार से 2 लाख तक जुर्माना लग सकता है. इसी के साथ कोरोना मरीज खुद को छिपाता है और अपनी बीमारी नहीं बताता है तो उसे 1 से 3 साल की सजा और 50 हजार से 1 लाख तक का जुर्माना देना पड़ सकता है.