देश में कहीं भी फंसे लोगों को लेकर योगी सरकार ने उठाया ये बड़ा कदम!

कोरोना के चलते देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के हालात बिगड़ते जा रहे हैं. ऐसे में मोदी सरकार ने 3 मई तक के लिए लॉकडाउन को आगे बढ़ाया है, इसके बावजूद भी हर दिन कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या रिकॉर्ड तोड़ बढ़ती जा रही है. सरकार के पास लॉकडाउन को आगे बढ़ाने के अलावा कोई और चारा नही था. राज्य सरकारें एक के बाद एक बड़े कदम उठा रही हैं ताकि इस महामारी से बचा जा सके.

जानकारी के लिए बता दें भारत में बढ़ते मरीजों के साथ उत्तरप्रदेश में भी कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है जबकि सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जनता को लेकर कई बड़े कदम उठा चुके हैं. लॉकडाउन के चलते बड़ी संख्या में उत्तरप्रदेश के रहने वाले लोग पूरे देश में कहीं न कहीं फंसे हुए हैं. ऐसे में यूपी सरकार ने उनको राशन और दूसरी सुविधाओं को मुहैया करवाने के मकसद से सीएम योगी ने वरिष्ठ अधिकारियों को देश के अलग-अलग हिस्सों का नोडल अधिकारी बनाया है.

इस मुश्किल भरे समय में देश में कहीं भी फंसे लोगों के लिए योगी सरकार का कण्ट्रोल रूम मसीहा साबित हो रहा है. सीएम योगी ने निर्देश इन नोडल अधिकारियों को जिम्मेदारी दी है कि वह उत्तरप्रदेश के मूल निवासियों की मदद करें. इतना ही नहीं योगी सरकार ने इन नोडल अफसरों के नम्बर भी जारी किये हैं. समाज कल्याण निदेशालय में बिहार और झारखंड में फंसे यूपी वालों की मदद के लिए कंट्रोल रूम बनाया गया है.

गौरतलब है कि इस कंट्रोल रूम में बड़ी संख्या में यूपी के रहने वाले लोग मदद के लिए लोग फोन कर रहे हैं और सरकार द्वारा उन्हें हर संभव मदद पहुंचाई जा रही है. ऐसी विकट स्थिति में योगी सरकार का कंट्रोल रूम इन लोगों के लिए मसीहा बना है. सरकार ने अन्य राज्यों में फंसे लोगों को लेकर ये बहुत बड़ा कदम उठाया है. समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों को दादर नगर हवेली, महाराष्ट्र और चेन्नई समेत देश के जिस भी कोने से फोन आ रहे हैं उनकी समस्याओं का मानवीय आधार पर दूर किया जा रहा है.