योगी आदित्यनाथ ने मजदूरों को दी सौगात, कहा मजदूरों के खाते में जायेंगे इतने हज़ार रुपये

1402

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने प्रदेश के मजदूरों का खासा ध्यान रखते हैं. देश इस वक़्त कोरोना वायरस जैसी बीमारी से लड़ रहा है. जिसकी वजह से आज देश के अंदर लॉक डाउन जारी हैं. इसकी वजह से उत्तर प्रदेश के मजदूर अलग अलग प्रदेश में फं’स गए थे. योगी सरकार मजदूरों को उनके घर पहुँचाने का काम पहले ही शुरू कर चुकी हैं.

आज योगी सरकार ने मजदूर दिवस पर मजदूरों को सौगात देने का ऐलान किया हैं. यूपी सरकार ने 30 लाख मजदूरों को भत्ते की क़िस्त जारी की गई हैं. मई दिवस यानि मजदूर दिवस  के मौके पर सरकार ने राशन देने की दूसरी किस्त की भी आज से शुरुआत कर दी है.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ‘यूपी सरकार ने निर्माण श्रमिकों, रोज कमाने वाले ठेली, खोमचा, रेहड़ी, रिक्शा, ई-रिक्शा, कुली, ग्रामीण और शहरी क्षेत्र में 16 श्रेणी के कामगारों धोबी, मिस्त्री, मोची, नाई, कुम्हार, राजमिस्त्री आदि के लिए भरण-पोषण भत्ता देने की व्यवस्था की है’.

योगी सरकार ने मजदूरों को किसी प्रकार की कोई दिक्कत का सामना न करना पड़े और मजदूरों को वक़्त पर खाना मिले क्योकि इस बुरे समय में उनके पास काम करने का कोई जरिया नहीं हैं. इसी को देखते हुए यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ‘अबतक ऐसे 30 लाख निर्माण श्रमिकों के साथ अन्य सभी श्रमिकों को ये सुविधा उपलब्ध कराई गई है’ आज हम एक बार फिर से अपने 30 लाख श्रमिक वर्ग को दूसरी बार भरण पोषण भत्ता की राशि जारी कर रहे हैं’.

सीएम योगी ने आगे कहा कि ‘आज हम उत्तर प्रदेश के 18 करोड़ लोगों को पोर्टेबिलिटी के माध्यम से खाद्यान्न उपलब्ध कराने की कार्ययोजना को आगे बढ़ा रहे हैं. उत्तर प्रदेश का कोई भी कामगार या श्रमिक अगर देश के किसी भी हिस्से में रहता है और उसके पास उसका राशन कार्ड नंबर है, तो उसके माध्यम से वहां के कोटे की दुकान से भी वो अपना राशन ले सकता है’.

योगी आदित्यनाथ की जितनी तारीफ की जाये उतनी कम हैं क्योकि उनका कहना था की हम गरीब, मजदूर और जो भी नीचे तबके के लोग हैं. हम उन सबको खाने पीने की कोई कमी नहीं होंगे देंगे और आज वो वैसा ही काम कर रहें हैं.