सीएम योगी ने दूसरे प्रदेशों में फं’से यूपी के मजदूरों के लिए मांगी जिलेवार सूचि

1046

उत्‍तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना की जं’ग जीतने के लिए रात दिन एक करें हुए हैं. उन्होंने अपने फं’से हुए मजदुर और छात्र सभी की वापसी अपने गृह जनपद करवा दी है और जो फं’से हैं उनको भी वापस लाने की तैयारी चल रही हैं. योगी ने अब मजदूरों की सूचि मांगी हैं.सीएम योगी ने कहा कि ‘उनकी सरकार सूबे के सभी प्रवासी मजदूरों और कामगारों को वापस लाना चाहती है. इसके लिए संबंधित राज्य सरकारों से अपने यहां फं’से यूपी के कामगारों की जिलावार सूची उपलब्ध कराने को कहा गया है. जो राज्य सरकारें सूची उपलब्ध करा रही हैं, उन्हें लाने की व्यवस्था हम तत्काल कर रहे हैं.’


सीएम योगी ने आगे कहा कि ‘अभी तक दूसरे प्रदेशों से करीब 30 हजार कामगारों को लेकर 37 ट्रेनें उत्तर प्रदेश आ चुकी हैं. इसके अलावा पिछले हफ्ते हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश से भी बसों से 30 हजार से ज्यादा मजदूर लाए गए हैं. इससे पहले मार्च में भी साढ़े छह लाख प्रवासी मजदूरों को उत्तर प्रदेश सरकार वापस लाइ थी. उन्होंने बताया कि मजदूरों को लेकर बृहस्पतिवार को 20 ट्रेनें आ रही हैं.’

सीएम योगी अपने मजदूरों को अलग-अलग प्रदेशों से लाने की पूरी कोशिश कर रहें हैं. योगी ने  कहा कि शुक्रवार को भी 25 से 30 ट्रेनें प्रवासी कामगारों को लेकर प्रदेश में आएगी. योगी सरकार ने कहा है कि उन मजदूरों को उनके घर तक पहुँचाने के लिए परिवाहन की 10 हज़ार बसे लगाईं गई हैं. जिससे उन मजदूरों को सही सलामत उनके गृह जनपद पहुँचाया जायेगा. सरकार ने कहा है कि  यहां आने वाले हर कामगार को जांच के लिए क्वारंटीन सेंटर में रखने और उन्हें सुरक्षित घरों तक पहुंचाने की व्यवस्था की जा रही है.
मुख्यमंत्री योगी ने मजदूरों को लेकर कहा हैं कि जो भी मजदुर बाहर से आ रहें हैं उन सभी का एक डेटा तैयार कि जायेगा उनके कार्यकुशलता को देखते हुए और उसके बाद प्रदेश सरकार उनको अपने ही प्रदेश में रोजगार देने की दिलान की तैयारी हैं.