योगी के पास पहुंचा संदिग्ध युवक,शासन और प्रशासन में मचा हड’कंप

4294

कोरोना जैसी वैश्विक बीमारी से लड़ने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कमान पूरी तरह से अपने हाँथ में ले रखी हैं. योगी ने प्रदेश को इस बिमारी से निकलने के लिए आये दिन कोई न कोई उपाए और कदम उठाया करते हैं. जिससे प्रदेश की जनता को इस महामारी से निकाला जा सके. इन सबके बीच योगी की सुरक्षा में ही सेंद लग गई या कह सकते हैं कि योगी की सुरक्षा से खिलवाड़ किया जा रहा हैं.

उन्नाव से कुछ लोग सीएम योगी आदित्यनाथ के कार्यालय लोकभवन में कोरोना फंड राहत कोष में दान देने के लिए चेक सौपने आये थे. जिसमे एक शख्स ऐसा भी था जिसको क्वारंटाइन किया गया था. उसको इलसिए क्वारंटाइन किया गया क्योकि वो एक युवक के संपर्क में आया था और वो युवक कोरोना पॉजिटिव निकला था उसके बाद इस शख्स को प्रशासन ने क्वारंटाइन  किया था.

उन्नाव के बांगरमऊ क्षेत्र के गांव ब्योली इस्लामाबाद में रहने वाले कोरोना संक्रमित शख्स के संपर्क में आने वाला युवक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने लोकभवन में उनके कार्यालय तक पहुंच गया. सीएम योगी आदित्यनाथ को सीएम कोविड फंड में सहायता राशि का चेक देने लखनऊ गए सफीपुर के पूर्व ब्लाक प्रमुख के साथ क्वारंटाइन किया गया युवक भी था. जब ये पता चला कि ये युवक क्वारंटाइन किया गया था और ये सीएम योगी के कार्यालय तक पहुंचा गया तो हडकंप मच गया. उसके बाद उन्नाव डीएम ने सीएमओ से कहा है कि पता लगाया जाए ये शख्स कहा-कहा गया और किस-किस से मिला है.

जो युवक योगी से मिला था वो पहले ही क्वारंटाइन में था. उसने एक ऑडियो जारी कर के ये बात बताई कि वो क्वारंटाइन  किया गया था. तब ये बात सामने आई हैं. सीएमओ आशुतोष कुमार का कहना है कि इसके कोरोना संक्रमित सभी स्वजनों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है. तो घबराने की बात नहीं हैं लेकिन फिर भी हम लोग उस सबका पता लगायेंगे जो इसके संपर्क में आया था. उन सबकी रिपोर्ट करवाई जाएगी. वही डीएम उनाव का कहना है कि उन सबकी रिपोर्ट करवाई जाएगी जो भी उस युवक से सैमपार्क में आया हैं. और उन सबको क्वारंटाइन  किया जायेगा. इसकी रिपोर्ट शासन को भी भेजी जाएगी.