एक्शन में योगी सरकार, CAA के विरोधी में हिं’सा करने वाले 53 लोगों से वसूले जायेंगे इतने लाख रुपये

1405

उत्तर प्रदेश में CAA विरोधी प्रदर्शनों के दौरान सबसे ज्यादा हिं’सा हुई थी और सार्वजनिक संपत्तियों को नुक’सान पहुंचाया गया था. तब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उप’द्रवियों को चेता’वनी देते हुए कहा था कि नुक’सान की भरपाई उप’द्रवियों से ही की जायेगी. उसके बाद राज्य के कई जिलों में उप’द्रवियों की पहचान कर उनकी संपत्तियों को सील किया गया था. अब मुज़फ्फरनगर ऐसा पहला जिला बन गया है जहाँ से वसू’ली की प्रक्रिया आरम्भ की गई है.

मुज़फ्फरनगर में 53 उपद्र’वियों की पहचान की गई है और उन्हें नोटिस भेजा गया है . मुज़फ्फरनगर जिले के 53 लोगों से 23 लाख रुपये हर्जाना वसूलने का आदेश दिया गया है. पुलिस ने 57 लोगों की लिस्ट तैयार की थी. ये लिस्ट CCTV फुटेज, अखबारों में छपी तस्वीरें और सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो क्लिप्स के आधार पर तैयार की गई थी. 57 लोगों में से 53 लोगों ने अपना जवाब दाखिल किया. अब इन 53 लोगों से सामूहिक रूप से 23.41 लाख वसूल किये जायेंगे. जांच के दौरान चार लोगों को क्लीनचिट दे दी गई.

CAA विरोधी प्रदर्शनों के दौरान उत्तर प्रदेश के कई जिलों बिजनौर, मेरठ, लखनऊ, मुज़फ्फरनगर, बागपत, मुरादाबाद आदि में हिं’सा हुई थी. लोग जु’म्मे की न’माज के बाद सड़कों पर उतर आये थे. कई दिनों तक उत्तर प्रदेश के कई जिलों में इंटरनेट सेवा बंद रही थी. इस हिं’सा में सार्वजनिक संपत्तियों को जमकर निशाना बनाया गया था. तब मुख्यमंत्री ने साफ़ साफ़ कहा था कि इन उप’द्रवियों से ही नुक’सान की भरपाई की जायेगी. इस हिं’सा की जांच के लिए SIT बैठाई गई थी. सामने आया कि PFI नाम के संगठन ने हिं’सा फैलाने के लिए पैसे बांटे थे.