Facts check : क्या योगी के गोरखनाथ मंदिर में नही होती दलितों की एंट्री?

360

देश के जाने-माने पत्रकार राहुल कंवल ट्वीट करते है कि “गोरख़पुर के गोरखनाथ मंदिर समेत देश के कई बड़े मंदिरों में दलितों की एंट्री पर बंद है”. हाँ हम ये भी कह सकते हैं कि राहुल कंवल अप्रत्यक्ष रूप से योगी आदित्यनाथ को निशाना बनाना चाह रहे थे.

बात कुछ समझ नहीं आ रही है कि राहुल कंवल अचानक ये दलित मुद्दा कहाँ से उठा लायें? क्या वो ट्वीटर पर ट्रोल होने के लिए ऐसा कर रहे हैं? या फिर इसके पीछे कोई और बड़ा कारण है! इसे तो हमें और आपको समझना चाहिए.

इस मुद्दे को लेकर जब हमने पड़ताल की तो हमारे हाथ गौरव कुमार के ट्वीटर अकाउंट से कुछ वीडियो हाथ लगे जो गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर के अंदर बनायें गये हैं. इस वीडियो में कई दलित लोगों से बातचीत की गयी है जो मंदिर से जुड़े कई बड़े खुलासे करते नजर आ रहे हैं. हमें यहाँ जो जानकारी मिली उसके अनुसार वहां के कर्मचारी तो दलित हैं ही साथ में मंदिर के मुख्य पुजारी भी एक दलित हैं. नीचे दिए गये वीडियो को देखने के बाद आपको यह बात समझ आ जायेगी कि किस तरह देश के कुछ काबिल पत्रकारों द्वारा झूठ फैलाया जा रहा है.

अब आपको इसके संभव कारण भी बता देते हैं. उनमे से एक कारण 2019 का आम चुनाव भी हो सकता हैं. लोगों को जाति के आधार पर बांटने के लिए मंदिर का नाम लेकर ये काम बेहद आसानी से किया जा सकता है. यह मंदिर से जुड़े नए विवाद पैदा करने की कोशिश भी हो सकती है !आपको बता दें कि राहुल कंवल के द्वारा किये गये इस ट्वीट के बाद बीजेपी प्रवक्ता शलभमणि त्रिपाठी ने ट्वीट कर राहुल कंवल को जवाब दिया . देखिये उन्होंने क्या कहा-

आपने सभी के उत्थान के लिए काम करने वाली गोरक्षपीठ पर फर्जी और आहत करने वाले आरोप लगाए, आपका स्टिंग आपरेशन प्रायोजित व दुर्भावनापूर्ण है, दम है तो गोरखनाथ मंदिर में वह जगह दिखाइए जहाँ दर्शन के वक़्त जात पूछी जाती हो,आप दिखा पाए तो राजनीति छोड़ दूँगा, नहीं तो आप पत्रकारिता छोड़िए

कुछ पत्रकारों ने पहले भी दलितों को लेकर क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों के चयन पर भी टिप्पणी की थी. यहाँ तक आगरा के संजलि जैसे संवेदन शील मुद्दे पर भी कुछ लोग इसे दलित एंगल देने से बाज नही आये. नेताओ के ऐसे बयान तो फिर भी हजम हो जाते है लेकिन जब देश के पत्रकारों का एक वर्ग इस तरह की बातें करता है तो समझ नही आता आखिर वे करना क्या चाहते हैं?

देखिये पूरा वीडियो

Facts Check : Rahul Kanwal tweet about Gorakhnath Temple

आज तक के राहुल कँवल ने ख़ुलासा किया है कि योगी आदित्यनाथ के गुरु गोरखनाथ मंदिर में दलित नहीं घुस सकते हैं …तब से उठा बवाल थमा भी नहीं था कि आ गया ये विडीओ .. देखिए इसमें ऐसा क्या हुआ …

Posted by The Chaupal on Friday, December 28, 2018

बात बात में कभी धर्म, कभी जाति, कभी जेंडर के नाम पर समाज में जहर घोलकर कुछ लोगो को जाने क्यों बड़ा आनंद आता है! आप ऐसी खबरों से खुद को सतर्क रखिये और सावधान रहिये