प्रियंका गाँधी ने यो’गी के भग’वा पर उठाये सवाल तो योगी ने दिया मुंह’तो’ड़ जवाब

2406

उत्तर प्रदेश में इन दिनों राजनीति अपने चरम पर है, कभी प्रियंका गाँधी का CA’A को लेकर हुए प्रद’र्शनों में म’रने वाले और ज’ख्मी हुए प्रदर्श’नकारियों के घर जाकर मिलना तो कभी प्रशा’सन का उनकी गाड़ी को रास्ते में ही रोक देना, पिछले कुछ दिनों में मुख्यमंत्री योगी आदि’त्यनाथ पर भी कांग्रेस ने खूब आ’रोप लगाये हैं. कुछ दिनों पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी के भगवा वाले बयान पर अब मुख्यमंत्री योगी आदि’त्यनाथ ने ट्वीट करके मुंहतो’ड़ जवाब दिया है.

गौरतलब है कि हाल ही में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी ने C’AA को लेकर हुई हिं’सा और प्रशासनिक कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए योगी आदि’त्यनाथ को टारगेट किया था और उनके भगवा कपड़ों को लेकर सवाल उठाये थे, यूपी के चार दिवसीय दौरे पर पहुंची प्रियंका ने अंपने दौरे के आखिरी दिन खूब हम’ला बोला था, उन्होंने कहा मुख्यमंत्री योगी ने जो भगवा धारण कर रखा है वो उनका नहीं है.

अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने कहा था कि भगवा रंग हिंदुस्तान की संस्कृति का हिस्सा है, ये भारत के आध्यात्मिक पहलू का रंग है, ये रंग हिंदुत्व का प्रतीक है और कृष्ण, राम, शिव के इस देश में हिं’सा के लिए कोई जगह नहीं होनी चाहिए. न तो महाभारत के दौरान कृष्ण ने बदले और हिं’सा की कहीं बात की है, हमारे देश की परंपरा में बदला लेने की भावना निहित नहीं है. भारत का अतीत प्रेम, दया, अहिं’सा और करुणा की बात करता है और योगी आदि’त्यनाथ को भारत का मिजाज और ये बात दोनों ही समझने चाहिए.

इस पर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदि’त्यनाथ (Yogi Adityanath) ने प्रियंका गाँधी के आरोप के बाद अब जोरदार पलटवार किया है, 30 दिसंबर की शाम को मुख्यमंत्री कार्यालय (CM Office) की ओर से जारी किये गये एक ट्वीट में कहा गया कि संन्यासी की लोक सेवा और जन कल्याण के निरंतर जारी यज्ञ में जो भी बाधाएं पैदा करेगा उसको दंडित तो होना ही पड़ेगा. जिन्हें विरासत में राजनीति मिली हो और जो देश को भुलाकर तुष्टिकरण की राजनीति करते हों वो भला लोक सेवा का अर्थ क्या समझेंगे?

इसके बाद कार्यालय की ओर से एक और ट्वीट किया गया जिसमें लिखा है, ‘सब कुछ त्याग कर सीएम योगी ने भगवा लोक सेवा के लिए धारण किया है. वह न केवल भगवा धारण करते हैं, बल्कि उसका प्रतिनिधित्व भी करते हैं. भगवा वेशभूषा लोक कल्याण और राष्ट्र निर्माण के लिए है और योगी जी उस पथ के पथिक हैं.’