कोरोना से निपटने के लिए योगी सरकार ने दिया ऐसा आदेश कि लोग बोले … ‘वाह योगी जी वाह’

4191

कोरोना ने पूरी दुनिया के होश उड़ा रखा है. दुनिया भर के देश इसे रोकने का प्रयास कर रहे हैं. उत्तर प्रदेश में योगी सरकार भी कोरोना से सख्ती से निपटने के इंतजाम कर रही है. इसी सिलसिले में सरकार ने एक ऐसा आदेश जारी किया जिसकी हर कोई तारीफ़ कर रहा है.

उत्तर प्रदेश सरकार ने आदेश जारी करते हुए कहा है कि जो शख्स कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए की जा रही पहल में सहयोग नहीं करेगा, उसे जेल की हवा भी खानी पड़ सकती है. सरकार ने कहा है कि कोरोना वायरस से ग्रसित व्यक्ति की बीमारी छिपाने, सूचना न देने, अस्पताल में भर्ती न करवाने या जांच और भर्ती के लिए पहुंची टीम का सहयोग न करने वालों के खिलाफ प्रशासन सख्त कार्रवाई करेगा. इसके अलावा सरकार ने कोरोना के रोकथाम और बचाव के प्रयास के लिए ‘आउटब्रेक रिस्पांस कमिटी’ का गठन किया है. अफसरों को जरूरी दिशा-निर्देश दिए हैं।

हाल ही में कई ऐसे मामले सामने आये हैं जिसमे विदेश से लौटे लोग जांच करवाने में आनाकानी कर रहे हैं. इसी कारण सरकार ने आदेश दिया है कि अगर कोरोना वायरस का कोई भी संदिग्ध रोगी, पारिवारिक सदस्य या संपर्क में आया अन्य व्यक्ति अगर जांच नहीं करवाता है और जांच करने के लिए पहुंची टीम का सहयोग नहीं करता है, या स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की कारवाई में बाधा उत्पन्न करेगा तो उसे माहौल खराब करने का आरोपी मानते हुए आईपीसी की धारा 188 के तहत संबंधित थाने में एफआईआर दर्ज करवाई जाएगी. योगी सरकार के इस निर्णय लोगों का दिल जीत लिया है. सोशल मीडिया पर लोगों ने योगी सरकार के इस फरमान की जमकर सराहना की है.