लॉकडाउन की वजह से कोटा में फंसे यूपी के हज़ारों छात्र, योगी आदित्यनाथ ने मदद के लिए उठाया ये कदम

1663

राजस्थान का शहर कोटा शिक्षा का सबसे बड़ा केंद्र है. हर साल लाखों छात्र इंजीनियरिंग और मेडिकल की तैयारी के लिए कोचिंग लेने कोटा जाते हैं. हार राज्य के छात्र वहां रह कर अपने भविष्य की तैयारियां करते हैं. उत्तर प्रदेश के भी हज़ारों छात्र कोटा में रहकर पढ़ाई करते हैं लेकिन लॉकडाउन की वजह से वहीं फंस गए. उनकी मदद के लिए अब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ा कदम उठाया है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोटा में फंसे बच्चों को निकालने के लिए 300 बसें भेजी है. उत्तर प्रदेश के बच्चे को लेकर आज 300 बसें रवाना होंगी. लम्बे वक़्त से कोटा में फंसे इन बच्चों ने सोशल मीडिया पर #SendUsBackHome अभियान की शुरुआत की थी. छात्रों की समस्या को देखते हुए लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला पिछले 2 दिनों से उनकी समस्या का समाधान करने की कोशिश कर रहे थे. अब बच्चों को निकलने की प्रक्रिया शुरू हो गई गई. उत्तर प्रदेश सरकार ने अपने छात्रों को निकलने के लिए बसें भेजी है.

उत्तर प्रदेश के अलावा जम्मू कश्मीर और बिहार के भी हज़ारों छात्र कोटा में फंसे हुए हैं. बिहार सरकार ने तो बच्चों को वापस लाने से मना कर दिया. जम्मू-कश्मीर सरकार को अब तक परमिशन नहीं मिल पाई है. जबकि उत्तर प्रदेश सरकार ने बसें भेज कर अपने छात्रों को निकलने की प्रक्रिया शुरू कर दी है. उम्मीद है कि अब जम्मू कश्मीर सरकार फिर से अपने छात्रों को निकलने की कोशिश शुरू करेगी.