दिल्ली में गरजे योगी आदित्यनाथ, ‘बोली का नहीं गो’ली का सामना करना पड़ेगा’

1489

दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए चुनाव प्रचार आखिरी दौर में पहुँच चूका है. आखिरी दौर में भाजपा के चुनावी अभियान में उबाल लाने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रचार अभियान में उतरे और उन्होंने अपने भाषणों के जरिये चुनावों को रोमांचक बना दिया.

रविवार को दिल्ली के बदरपुर में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए शाहीन बाग़ पर जमकर बरसे. उन्होंने कहा कि उन्हें ठीक शाम 5 बजे यहां आना था लेकिन शाहीन बाग प्रदर्शन के चलते उन्हें देर हो गई. उन्होंने कहा कि शाहीन बाग में प्रदर्शन के नाम पर दिल्ली में अव्यवस्था फैलाई जा रही है.

रैली को संबोधित करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा, भक्त कभी दं’गा फैलाने में भरोसा नहीं करते. हम कांवड़ियों की सुरक्षा की गारंटी देंगे. यदि सभी धर्म अपने हिसाब से पूजा-पाठ कर सकते हैं, तो कांवड़िया भी कर सकते हैं. लेकिन जो लोग कांवड़ियों का विरोध करते हैं, उन्हें पुलिस की गो’लियों का सामना करना पड़ेगा. उन्होंने कहा, बोली का नहीं, पुलिस की गो’ली का सामना करना पड़ेगा.

शाहीन बाग़ में जारी प्रदर्शन पर भड़कते हुए उन्होंने कहा, ‘शाहीन बाग में जो लोग धरने पर हैं, उनका मकसद अनुच्छेद 370 और राम मंदिर जन्मभूमि का विरोध करना है. उनका असली दुख तीन तलाक बिल का पास होना है.’ अरविन्द केजरीवाल पर तीखा प्रहार करते हुए उन्होंने कहा, ‘अरविंद केजरीवाल ने कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का घोर विरोध किया. अनुच्छेद 370 हटने से केजरीवाल और पाकिस्तान को सबसे ज्यादा तकलीफ है. उन्होंने यह भी कहा कि केजरीवाल शाहीन बाग में असामाजिक तत्वों को बढ़ावा दे रहे हैं. योगी आदित्यनाथ ने कहा, अरविंद केजरीवाल को शाहीन बाग में बिरयानी खिलाने से फुर्सत नहीं है.’