उपद्रवियों के घर जुर्माने वाली नोटिस पहुंचना शुरू, न चुकाने पर होगी कुर्की जब्त

2803

नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ जारी हिं’सक प्रदर्शन के मद्देनज़र योगी सरकार एक्शन में आ गई है. CCTV फुटेज चेक कर कर के हिं’सा फैलाने वालों की पहचान की गई है. अब जुर्माना लगा कर उनके घर नोटिस भेजना शुरू हो गया है. अगर जुर्माना नहीं चुकाया गया तो उनकी कुर्की जब्ती की तैयारी भी शुरू कर दी गई है. यूपी सरकार उप’द्र’वियों पर किसी तरह की नरमी बरतने के मूड में नहीं है.

सूत्रों के मुताबिक़ पुरे उत्तर प्रदेश से करीब 10,000 लोगों पर FIR दर्ज किया गया है. इनमे मेरठ, लखनऊ, शामली और लखनऊ के उ’प’द्रवी शामिल है. लखनऊ में ही अकेले 300 से ऊपर लोगों को गिर’फ्तार किया गया है. दूसरी तरफ 19 दिसंबर को लखनऊ में हुई हिं’सा की जांच में पश्चिम बंगाल कनेशन सामने आया है. पुलिस सूत्रों के अनुसार, लखनऊ में हिं’सा के दौरान इन्हें पश्चिम बंगाल से बुलाया गया था. पुलिस का कहना है कि अभी विस्तृत जांच की जा रही है. हमें आशंका है कि कुछ NGO और बाहरी तत्वों ने हिं’सा को भ’ड़का’या है.

उत्तर प्रदेश में जारी हिं’स’क प्रदर्शनों में अब तक 15 लोगों की मौ’त हो चुकी है. 263 पुलिसकर्मी हिं’स’क प्रदर्शनों में घा’यल हुए हैं, जिनमें से 57 लोग आ’ग से झुल’से हैं.’ आईजी लॉ ऐंड ऑर्डर प्रवीण कुमार ने कहा, ‘राज्य में जारी हिं’स’क प्रदर्शनों में 705 लोग गिर’फ्तार किए गए हैं जबकि 4500 लोगों को ऐहति’यातन गिर’फ्तारी के बाद रिहा कर दिया गया. 15 जिलों में सोमवार तक इंटरनेट बंद है. इसी बीच लखनऊ के बाद कानपुर और रामपुर में हिं’सा भ’ड़क उठी.