हरियाणा के बाद अब मध्य प्रदेश मे फं’से लोगों की मसीहा बनी योगी सरकार

79

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जितनी तरीफ की जाये कम हैं.कोरोना की लड़ाई के साथ साथ योगी अपने प्रदेश के लोग जो लॉक डाउन की वजह से दुसरे प्रदेश में फंस गए हैं. आज कल उनके लिए कदम उठा रहें हैं और उनको अपने गृह जनपद लाने के लिए आदेश जारी कर रहें हैं.

अभी योगी ने हरियाणा में फंसे मजदूरों के वापस लाने के बाद अब यूपी सरकार मध्य प्रदेश से अपने श्रमिकों को वापस लाएगी. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को टीम-11 के साथ बैठक में यह निर्देश दिए. इससे पहले यूपी सरकार अब तक हरियाणा में फंसे 2224 प्रवासी मजदूरों को 82 बसों से यूपी ला चुकी है.  इन सभी को घर भेजने से पहले 14 दिनों के लिए उनको उनके ही शहर में क्वारंटाइन कर दिया गया है.

यूपी के प्रयागराज में विश्वविद्यालय या कॉलेजों में पढ़ाई करने वाले छात्रों को सोमवार देर रात रोडवेज की बसों से उनके गृह जनपद रवाना किया गया. लगभग एक हजार छात्रों को ले जाने के लिए 50 से अधिक बसें चलाई गईं. बता दें कि प्रयागराज में विभिन्न परीक्षाओं की तैयारी व अन्य पढ़ाई करने वाले छात्रों को उनके जनपद तक पहुंचाने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आदेश जारी किया था.

 सुबह आदेश मिलने के बाद प्रशासन और सड़क परिवहन निगम ने तैयारी शुरू कर दी थी. दोपहर बाद छात्रों को ले जाने के लिए बसों के रूट तय कर दिए गए. प्रशासन की ओर से रात नौ बजे से देर रात 12 बजे तक अलग-अलग बसें चलाने का निर्णय लिया गया. बसें चलाने की सूचना सोशल मीडिया के माध्यम से छात्रों तक पहुंचाई गईं. सड़क परिवहन निगम की बसें रात आठ बजे से चिह्नित स्थानों पर खड़ी हो गईं.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इससे पहले कोटा, राजस्थान में फंस लोगों को वहां से वापस ला चुके हैं. योगी ने प्रदेश के छात्र-छात्राओं से  मंगलवार शाम साढ़े चार बजे  वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए  संवाद करेंगे. उनका हाल-चाल लेंगे. यह जानकारी आज यहां देते हुए राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री  इन विद्यार्थियों से होम क्वारण्टीन का पूरी तरह पालन करने, कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए लोगों को जागरूक करने तथा आनलाइन शिक्षा प्रणाली के माध्यम से भविष्य को उज्ज्वल बनाने के सम्बन्ध में सामान्य चर्चा करेंगे.

योगी आदित्यनाथ इस वक़्त पूरी फॉर्म में हैं और वो अपने प्रदेशवासियों के लिए जितना ज्यादा हो सकता है कर रहें हैं. उनके फैसले काबिले तारीफ हैं. आज उत्तर प्रदेश का मजदुर हो या छात्र या श्रमिक उन सबको ध्यान में रखते हुए योगी आदित्यनाथ काम कर रहें हैं.