योगी सरकार ने यूपी में फंसे मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए किये ये इंतजाम

474

पीएम मोदी ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए देश में 21 दिन का लॉकडाउन लागू कर रखा है. लॉकडाउन करना भी भारत के लिए बहुत जूरूरी हो गया था. क्योंकि जिस तरह से कोरोना देश के अंदर अपने पैर पसार रहा था. उसको देखते हुए पीएम मोदी को ये कदम उठाना पड़ा. क्योंकि बाकि देशों को देखते हुए भारत ने अपने को बचाने के लिए कमर कस ली है. अगर भारत कठोर कदम ना उठाता तो शायद देश को काफी छति उठानी पड़ सकती थी. इसको देखते हुए पीएम मोदी ने कठिन कदम उठाये और अपने देश की रक्षा की.

कोरोना की वजह से जो लोग कही दूसरी जगह फंस गये हैं. उनके लिए भी सरकार पूरा इंतजाम कर रही है. लेकिन उसके बाद भी यूपी, दिल्ली समेत कई राज्यों से दिहाड़ी मजदूरों का पैदल पलायन जारी है. दरअसल, लॉकडाउन की वजह से कारखानों समेत तमाम फैक्ट्रियों में कारोबार फिलहाल बंद है, लोगों को 21 दिन तक घरों में रहने के लिए कहा गया है, जिसके बाद लोग पैदल ही अपने-अपने घर जाने की कोशिश कर रहे हैं. लोग सैकड़ों किलोमीटर पैदल चलने को मजबूर हैं.

ऐसे में बाहर के राज्यों से आने वाले और यूपी बॉर्डर पर फंसे हजारों मजदूरों के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने इंतजाम किए हैं. यूपी सरकार ने हर बॉर्डर के जिले के जिलाधिकारियों और कप्तानों को निर्देश दिए हैं कि वो श्रमिकों के खाने पीने का पूरा इंतजाम किया जाये. देशभर में लॉकडाउन की वजह से श्रमिक-मजदूरों की बॉर्डर पर भारी भीड़ को देखते हुए सरकार ने उनके रुकने और सुरक्षित घर पहुंचने की व्यवस्था करने को कहा है. योगी सरकार राज्य में प्रवेश करने वाले लोगों का शुरुआती चेकअप भी कराएगी. बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ के मीडिया सलाहकार मृत्युंजय कुमार ने शुक्रवार को ट्वीट कर जानकारी देते हुए कहा था कि मुख्यमंत्री ने अपील की है कि जो लोग जहां है, वहीं रुके, उनके लिए रहने-खाने की व्यवस्था की जाएगी.

कोरना की वजह से दिल्ली की सीमा से लाखों लोग उत्तर प्रदेश की तरफ कूच कर रहे हैं. मजदूर के पैदल पलायन पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार नजर रखे है. प्रदेश सरकार ने बॉर्डर पर उनके खाने-पीने और सुरक्षित घर पहुंचने के साथ चेकअप की भी व्यवस्था की है. लेकिन उसके बाद भी लोग समझने को तैयार नही हैं. जबकी सरकार की तरफ से उन सब लोगो के लिए हर संभव कोशिश की जा रही है. अब योगी सरकार ने उन लोगो को उनके घर सुरक्षित पहुंचाने का इंतजाम करने को कहा है.