योगी आदित्यनाथ की बैठक में कोरोना की वजह से दिखा कुछ ऐसा नज़ारा

1235

देश के अंदर कोरोना वायरस (COVID-19) के खिलाफ जंग जारी है. प्रदेश भर में पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था के साथ ही लोगों तक आपात जरूरत पहुंचाने के लिए सरकार ने पूरी ताकत झोंक रखी है. खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  लगातार स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं और पूरी कार्रवाई की मॉनीटिरिंग  कर रहे हैं. योगी इस वक्त पूरी तरह कोरोना से लड़ने के लिए हर तरह का प्रयास करने में जुटे हैं.

पीएम मोदी के आलावा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी सोशल डिस्टेंसिंग को अपना रहें हैं और लोगो से भी कह रहे है कि वो भी इसका पालन करें. योगी की बैठक में कोरोना को असर साफ नजर आ रहा है. बैठकों का नजारा बदल गया है. यहां पूरी एहतियात बरती जा रही है.

बैठक में मुख्यमंत्री और अफसर एक-दूसरे से निश्चित दूरी पर बैठ रहे हैं और प्रदेश के हालातों की समीक्षा कर रहे हैं. ऐसी ही एक बैठक गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुलाई. बैठक में मुख्य सचिव राजेंद्र तिवारी, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल, प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा, प्रमुख प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा व प्रमुख सचिव स्वास्थ्य, सूचना निदेशक मौजूद रहे. सभी लोग एक निश्चित दूरी पर बैठे दिखाई दिए.

बता दें उत्तर प्रदेश में अब तक कुल 42 लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है. गुरुवार को 4 और लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई, इनमें नोएडा में 3 और बागपत में 1 मरीज संक्रमित पाया गया. प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार अब तक नोएडा में सबसे ज्यादा 14 मरीज सामने आए हैं. इसी को देखते हुए योगी ने यूपी वालों से अपील की है कि वो अपने घर के अंदर रहें ताकि कोरोना से बच सकें और लोगो को भी बचा सकें. लॉकडाउन का मतलब है की आप सभी लोग 21 दिन तक अपने घर के अंदर रहें.