अगर इस बैंक में है आपका अकाउंट तो आपके लिए है बुरी खबर, एक महीने में निकाल सकेंगे सिर्फ इतने रुपये

282

यस बैक के ग्राहकों के लिए बुरी खबर है. वित्तीय संकट से जूझ रहे यस बैक पर RBI ने अपना हंटर चलाया है जिसका असर ग्राहकों पर पड़ रहा है. RBI ने यस बैक के ग्राहकों पर एक महीने तक 50 हज़ार रुपये से अधिक निकारी पर रोक लगा दी है. ये रोक एक महीने तक जारी रहेगी. इसका अर्थ ये हुआ कि अगर आपका अकाउंट यश बैंक में है तो आप अगले एक महीने तक अपने अकाउंट से 50 हज़ार से अधिक की रकम नहीं निकाल पायेंगे.

जैसे ही ये खबर मीडिया में आई वैसे ही यश बैंक के ग्राहक आधी रात को ही एटीएम की तरफ दौड़ पड़े. ग्राहकों में घबराहट साफ़ देखी जा सकती थी. लेकिन कहीं लोगों को एटीएम बंद पड़ा मिला तो कहीं एटीएम में कैश नहीं था. महाराष्ट्र और राजस्थान में कई लोग आधी रात के बाद भी एटीएम के बाहर कतार लगाए खड़े थे. लोगों को इंटरनेट बैंकिंग सिस्टम के जरिये ट्रांजैक्शन करने में भी असुविधा झेलनी पड़ रही है. बैंक का सर्वर क्रैश हो गया. जिसके बाद लोगों को बताया गया कि चेक के जरिये वो ब्रांच जाकर 50 हज़ार रुपये निकाल सकते हैं.

RBI ने बैंक के निदेशक मंडल को भंग करते हुए प्रशासक नियुक्त कर दिया है. पूर्व एसबीआई सीएफओ प्रशांत कुमार को यस बैंक का एडमिनिस्ट्रेटर नियुक्त किया गया है. यस बैंक संकट की वजह से सुबह सबह शेयर बाज़ार भी धड़ाम हो गया. सेंसेक्स 1400 अंक नीचे चला गया और यस बैंक के शेयर के भाव 25 फ़ीसदी तक गिर गए. बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का सेंसेक्स सुबह 857 अंकों की गिरावट के साथ 37,613.96 पर खुला. थोड़ी ही देर में सेंसेक्स 1400 अंक तक टूट गया. यस बैंक के शेयर 25 फीसदी तक टूटकर 27.65 रुपये पर चले गए. यस बैंक, कोल इंडिया, टेक महिंद्रा, एसबीआई, टाटा मोटर्स, आरआईएल औरआईसीआईसीआई बैंक के शेयरों में भारी गिरावट देखने को मिली.