बदल गये है 6 राज्यों के राज्यपाल, इस पूर्व मुख्यमंत्री को मिला यूपी

1298

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने केंद्र सरकार की सहमती से कई राज्यों के राज्यपाल का तबादला किया है जबकि कई राज्यों में नए राज्यपाल बनाए गए हैं . सबसे बड़ा उलटफेर उत्तर प्रदेश में देखने को मिला जहाँ आनंदी बेन पटेल को राम नाईक की जगह पर नियुक्त किया गया है . आनंदी बेन पटेल पहले मध्य प्रदेश की राज्यपाल थीं लेकिन अब लाल जी टंडन को मध्य प्रदेश की जिम्मेदारी दी गई है . लाल जी टंडन पहले बिहार के राज्यपाल थे .

लाल जी टंडन के मध्य प्रदेश चले जाने के बाद फागू चौहान को बिहार का राज्यपाल नियुक्त किया गया है . फागू पहले उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री रह चुके हैं और फरवरी 2019 में उत्तर प्रदेश पिछड़ा वर्ग आयोग का चेयरमैनभी बने थे .रमेश बैस को त्रिपुरा का राज्यपाल नियुक्त किया गया है . बैस 2019 लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा की और से टिकट के दावेदार थे लेकिन उनका टिकट कट गया था . ऐसे वक़्त में जब टिकट कटने पर नेता पाला बदल लेते हैं, बैस ने भाजपा नहीं छोड़ी और प्रचार करते रहे . उन्हें इसी का इनाम मिला है और राज्यपाल नियुक्त किया गया है .

आरएन रवि को नगालैंड की जिम्मेदारी सौंपी गई है . रवि 1976 बैच के आईपीएस हैं और राज्यपाल बनने से पहले राष्ट्रीय सु’रक्षा सलाहकार अजीत डोवाल के उप सु’रक्षा सलाहकार थे. जगदीप धनखर को पश्चिम बं’गाल का राज्यपाल नियुक्त किया गया है . पश्चिम बं’गाल की जिम्मेदारी पहले केसरीनाथ त्रिपाठी की थी . धनखड़ सुप्रीम कोर्ट में वरिष्ठ अधिवक्ता हैं इसके अलावा वह राजस्थान के झुंझुंनूं से लोकसभा के लिए निर्वाचित हो चुके हैं। उनके सामने बंगाल की क़ा’नून व्यवस्था बनाए रखने की बड़ी चु’नौती होगी . धनखड़ जाट समुदाय से है . साल के अंत में हरियाणा में विधानसभा चुनाव होना है, धनखड़ को राज्यपाल के तौर पर नियुक्त करना जाट वोटबैंक को लुभाने का एक प्रयास के तौर पर देखा जा रहा है .