गृह मंत्रालय ने जारी किया ब’यान, प्रवासी मजदूरों के लिए रेलवे के द्वारा चलायी गयी इतनी ट्रेने

लॉकडाउन की वजह से देश भर में प्रवासी मजदूर और छात्र इधर उधर फं’से हुए है. जिनके लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है ताकि उन्हें फं’से राज्यों से निकाल कर उनके राज्यों में भेजा जा सके. इसके लिए सरकार ने स्पेशल ट्रेन भी चलायी है और उन ट्रेनों में कोरोना से बचाव के लिए पु’ख्ता इं’तजाम भी किये है

वहीं केंद्र सरकार की तरफ से लगातार कोशिश की जा रही है फं’से हुए प्रवासी मजदूरों को उनके राज्यों तक जल्द से जल्द पहुँचाया जा सके. जिस पर गृह मंत्रालय ने बताया कि नियमित रूप से इस विषय पार प्रेस कांफ्रेस की जा रही है ताकि अलग अलग जगहों पर फं’से लोगो को निकाला जा सके. जिसके लिए सरकार ने श्र’मिको की आवाजाही के लिए 222 श्रमि’क ट्रेने चलायी है. जिसका लाभ 2.5 लाख से अधिक लोगो को मिल रहा है.

दरअसल प्रवासी मजदूरों को लेकर दिन पर दिन राजनीति ग’रमाई हुई थी. जिस पर आज गृह मंत्रालय की और से प्रेस कांफ्रेस कर यह  साफ़ किया गया कि सरकार उनकी स’मस्या को समझ रही है और उनकी स’मस्या का निवा’रण करते हुए ही इतनी ट्रेने चलायी गयी है.

गौरतलब है लॉकडाउन के कार’ण सभी कामकाज ठ’प है. लोगो के आवाजाही के लिए कोई सा’धन न होने की वजह से म’जदूरों को काफी दि’क्कते हुई है. जिसके बाद सरकार ने मजदूरों के लिए यह फै’सला लिया है. ताकि उनको सुरक्षित उनके राज्यों तक पहुँचाया जा सके.