आखिर जीडी बक्शी को सम्मानित किये जाने पर क्यों भडका “लिबरल”गैंग

378

हमारे देश की लिबरल गैंग कितनी लिबरल है और उदारवादी लोग कितने उदार हैं इस बात का एक छोटा सा नमूना हम आपको देने जा रहे हैं. एयर कम्पनी विस्तारा ने सोशल मीडिया पर एक फोटो क्या शेयर कर दिया इसके लिए विस्तारा और देश के जाने माने रिटायर्ड सेनानी मेजर जनरल जीडी बख्शी को इतना ट्रोल किया गया, इतना अपशब्द कहे गये कि विस्तारा को अपना ये ट्वीट डिलीट करना पड़ा.. आइये अब हम आपको बताते हैं कि आखिर पूरा मामला क्या है. दरअसल उड़ान सेवायें देने वाली विस्तारा कम्पनी ने सोशल मीडिया पर एक तस्वीर शेयर की जिसमें जीडी बक्शी साहब और दो महिलायें मुस्कुराती दिखाई दे रही हैं. इसी के साथ विस्तारा की तरफ से लिखा गया कि एक कंपनी के तौर पर वह मेजर जनरल बख्शी को यात्रा सेवा प्रदान करने में गर्वित महसूस करती है और उनकी देश सेवा के लिए उनका धन्यवाद करती है।

इसके बाद खुद को लिबरल और उदारवादी कहने वाले लोगों ने ऐसी हरकत की जिसकी कल्पना आप नही कर सकते.. इसमें कुछ ऐसे लोग भी शामिल है जो जाने माने मीडिया संस्थान में काम भी करते हैं. कोई विस्तारा में आगे से हवाई यात्रा न करने की धमकी देने लगा, तो किसी ने मेजर जनरल बक्शी को ही बदमाश करार दे दिया। इसलिए क्योंकि विस्तारा ने जीडी बक्शी को सम्मानित किया था.. अमर नाम के यूजर ने लिखा कि ये समय है किसी और एयरलाइन्स की तरफ रुख करने का .. बधाई हो आपको नया कस्टमर मिल गया है. एक और यूजर ने लिखा कि “ शर्म आनी चाहिए विस्तारा को, एक ऐसे इन्सान को सम्मान देने के लिए जो मुस्लिमों को खुले आम मारने की बात करता है और महात्मा गाँधी जैसी व्यक्ति की हत्या का समर्थन करता है. इसके बाद इस महोदय ने लिबरल गैंग को कोट करते हुए लिखा है कि क्या ये आरएसएस की एयरलाइन्स है? स्वाति चतुर्वेदी जिनक अकाउंट बताता है कि ये एंडीटीवी से जुडी हुई है. इन्होने विस्तारा को जवाब देते हुए लिखा कि क्या आपको लगता है कि इससे आपकी एयरलाइन्स को बढ़ने में मदद मिलेगी. समझदार लोग अब इससे सफर नही करेंगे.

बीबीसी में काम कर चुके और इंडिया टुडे की मैगजीन में काम कर चुके रिफत जावेद लिखते हैं कि “मुझे विस्तारा काफी पसंद था लेकिन इनका प्यार एक कट्टर व्यक्तित्व वाले आदमी की तरफ देखकर ऐसा लगता है कि या तो एयरलाइन्स गैरजिम्मेदार है या फिर ये मुस्लिम विरोधी विचारधारा का समर्थन करती है. तो क्या अब ये साध्वी प्रज्ञा को भी सम्मानित करेंगे? यहाँ आपको ये समझने की जरूरत है कि विस्तारा और जीडी बख्सी को इतना टारगेट किया गया कि विस्तारा ने ये ट्वीट ही डिलीट कर दिया है.. अब आपको ये भी जानना चाहिए कि आखिर जीडी बक्शी कौन है? मेजर जनरल

कारगिल के युद्ध के नायक के साथ साथ राष्ट्रवादी विचारधारा रखने वाले व्यक्ति हैं. कारगिल युद्ध में अहम बटालियन का नेतृत्व कर भारत की जीत में उनके योगदान के लिए विशिष्ट सेवा पदक से उन्हें सम्मानित किया गया था. हालाँकि ट्वीट डिलीट किये जाने के बाद विस्तारा की तरफ दो वरिष्ठ अधिकारी
बक्शी साहब से मिलने पहुंचे थे.

1971 की बांग्लादेश निर्माण के वक्त की लड़ाई में उन्होंने भाग लिया था। 1999 में कारगिल के समय ऑपरेशन विजय को सफल बनाने के लिए सैन्य संचालन निदेशालय में उन्हें फिर से बुलाया गया था। वे पाकिस्तान और आतंकियों के खिलाफ कड़े रुख के लिए भी जाने जाते हैं और राष्ट्रवादियों में काफी सम्मानित हैं. यही वजह है कि लिबरल गैंग बुरी तरह इने चिढ़ा रहता है और आज इस कदर चिढ गया कि जीडी बक्शी के साथ साथ विस्तारा को भी टारगेट कर लिया… ये है हमारे देश का लिबरल और उदारवादी गैंग