जानिए क्यों चार साल में Indian Railway ने 73 हजार ट्रांसजेंडरों को किया गिरफ्तार

818

भारतीय रेल एक विशाल नेटवर्क है ,ट्रेन में हर आम इंसान ने एक न एक बार तो जरूर सफ़र किया ही होगा..सफ़र के दौरान कई ऐसे वाक्य हो जाते है जो आपकों हमेशा ही याद रहते है..जैसे ट्रेन में चाय पीना चार अलग अलग उम्र के लोगों का बैठकर राजनीती पे चर्चा करना. तो दूसरी तरफ देखा होगा कि रोज हजारों लोग घर से निकल कर रोजगार की दौड़ में रेलवे का सहारा लेते है, तो रेलवे में ये भी बहुत आम बात है कि सफ़र के दौरान लोगों को कई परेशानियों का भी सामना करना पड़ता है..एक तरफ जहां सरकार यात्रियों के सफ़र के दौरान आने वाली हर समस्या को दूर करने में लगी है, तो वहीं कुछ परेशानी ऐसी भी आ जाति है, जिनसे पार पाना कठिनाई भरा होता है। जैसे कि आप लोग ट्रेन में सफ़र कर रहे होते है उसी बीच तो कई सारे ट्रांसजेंडर यानि किन्नर आपके बीच आजाते है और आपका सारा मजा खराब कर देते है।ये चीज़ आप में से कई लोग ने फेस की होगी,और इतना ही नहीं वो कुछ तो ऐसे होते है जो जबर जास्ती आपके पास आकर पैसे मागने लगते है और ना देने पर कभी कभार कुछ तो उल्टा रिएक्शन भी आपको दे देते है , लेकिन अब यात्रियों की इस समस्या को समझते हुए रेलवे ने बड़ी संख्या में ट्रांसजेंडरों को गिरफ्तार किया है।

रेलवे ने एक आरटीआई में बताया है कि रेल मंत्रालय ने पिछले चार सालों में 73,000 से अधिक ट्रांसजेंडरों को जबरदस्ती उगाही करने को लेकर गिरफ्तार किया है। रेलवे ने बताया कि अकेले 20,000 से ज्यादा ट्रांसजेंडरों को तो इसी साल गिरफ्त में लिया गया।
अधिकारियों ने बताया कि कई यात्रियों ने अक्सर ट्रांसजेंडरों द्वारा उत्पीड़न की शिकायत दर्ज कराई है। यात्रियों का कहना है कि ट्रेनों में सवार के दौरान उनसे जबरदस्ती पैसे निकलवाए जाते हैं। बताया गया कि शिकायतकर्ताओं में कुछ लोग, जिन्होंने ट्रांसजेंडरों की मांगों को देने से इनकार कर दिया तो उन्हें दुर्व्यवहार का भी सामना करना पड़ा। शारीरिक उत्पीड़न के भी कई मामले सामने आए हैं। बता दें कि रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) नियमित रूप से इस तरह के मामलों की जांच के लिए विशेष अभियान चला रहा है। आरटीआई के जवाब में, रेल मंत्रालय ने कहा कि 2015 से लेकर इस साल जनवरी तक कुल 73,837 ट्रांसजेंडर गिरफ्तार किया गया। इनमें से 2015 में कुल 13,546, 2016 में 19,800, 2017 में 18,526 और 2018 में 20,566 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। मंत्रालय ने कहा कि इस साल जनवरी में 1,399 ट्रांसजेंडरों को गिरफ्तार किया गया।
खैर हर किन्नर आपको परेसान नहीं करता,पर कुछ लोगों ने किन्नरों के आड़ लेकर इसको उलटी कमाई का दानदा बना लिया है..और कुछ लोग सिर्फ कमी के चक्कर में इस काम पर उतर आये है.