एसपी मेरठ के ‘पाकिस्तान चले जाओ’ वाले वायरल वीडियो पर एडीजी ने कही ये बात

1309

मेरठ में नागरिकता कानून पर प्रदर्शन के दौरान जब प्रदर्शनकारी हदें पार करते हुए हुडदंग मचा रहे थे उस दौरान एसपी सिटी नारायण सिंह और उन प्रदर्शनकारियों की बातचीत का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें ये देखा जा सकता है कि एसपी की तरफ से कई बार उन्हें शांत करने की कोशिशें की गयी, मगर किसी तरह जब वो दंगाई नहीं माने तो एसपी ये कहते हुए सुने जाते हैं कि जो यहाँ CAA के बाद दंगा फ़ैलाने की कोशिश कर रहे हैं उनको पाकिस्तान चले जाना चाहिए. उनके इस विवादित वीडियो के बाद जब बवाल हुआ तो एडीजी ने इसपर अब अपनी प्रतिक्रिया दी है.

इस मामले पर मेरठ एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा- “पत्थरबाजी लगातार की जा रही थी, इसके साथ ही उपद्रवियों द्वारा भारत विरोधी और पड़ोसी देश के समर्थन में नारे भी लगाए जा रहे थे. वहां उस वक्त जो स्थिति थी वो बेहद तनावपूर्ण हो चुकी थी, प्रदर्शनाकरियों के बीच वहां पेम्फलेट्स भी बांटे जा रहे थे. और वहां यह सब धर्म गुरूओं और अन्य तरीकों से अपील किये जाने के बाद भी हो रहा था. हालात वहां उस समय काबू से बिल्कुल बाहर हो चले थे और कोई किसी की बात मानने को तैयार नहीं था.

विवादित वीडियो पर उन्होंने आगे कहा – हां, अगर जो स्थिति सामान्य रही होती तो शायद एसपी द्वारा शब्दों का चयन बेहतर हो सकता था लेकिन उस वक्त जो मौजूदा स्थिति थी वो काफी बिगड़ गई थी इसके बावजूद भी जैसा की हमें सिखाया जाता है, हमारे अधिकारियों ने बेहद संयम का परिचय दिया. और ऐसा भी नहीं है कि पुलिस की तरफ से कोई फायरिंग की गई हो.

गौरतलब है कि वायरल वीडियो में मेरठ एसपी (सिटी) अखिलेश नारायण सिंह प्रदर्शनकारियों के उस समूह में हिंसा फैला रहे कुछ लोगों को करियर तबाह होने की नसीहत देते दिखाई दे रहे हैं. 20 दिसंबर को ये वीडियो रिकॉर्ड किया गया था, उसी दिन मेरठ में नागरिकता कानून के विरोध में सडकों पर प्रदर्शन किया जा रहा था. जो कि कुछ समय बाद हिंसक हो गया था.