देश में कोरोना से संक्रमित रोगियों की संख्या 100 के पार चली गई है. सबसे ज्यादा केस महाराष्ट्र में सामने आये हैं जिस कारण महाराष्ट्र में स्कूल-कॉलेज और सिनेमाहॉल के साथ अब मॉल भी बंद करने के निर्देश दिए गए हैं. कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण अब रेलवे ने भी एहतियातन कई बड़े कदम उठाये हैं. भारतीय रेल में प्रतिदिन लाखों लोग सफ़र करते हैं. जिस कारण रेल यात्रियों में संक्रमण का खतरा सबसे ज्यादा है. इस कारण पश्चिमी रेलवे (वेस्टर्न रेलवे ने घोषणा की है कि अब से एसी कोच में कम्बल नहीं मिलेंगे. यात्रियों से अपना कम्बल खुद ले कर आने को कहा गया है. साथ ही एसी कोच में लगने वाले पर्दों को भी हटाने के निर्देश दिए गए हैं.

वेस्टर्न रेलवे के पब्लिक रिलेशन ऑफिसर की तरफ से बयान जारी कर कहा गया कि एसी कोच में मिलने वाली कंबल की रोजाना सफाई नहीं होती है. हालाँकि रेलवे ने ये भी कहा है कि बेडशीट उपलब्ध रहेगी. कम्बलों की तरह पर्दों की सफाई भी रोज नहीं होती. कोरोना वायरस के प्रकोप और दहशत के मद्देनजर नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर यात्रियों को पोस्टर व डिजिटल स्क्रीन पर संदेश के जरिए जागरुक किया जा रहा है. सफाई पर ज्यादा ध्यान दिया जा रहा है, जगह-जगह सेनिटाइजर रखे गए हैं और स्टाफ को मास्क दिए गए हैं. संक्रमित मरीजों के लिए यहां आइसोलेशन वार्ड भी बनाया गया है.

रेलवे ने भारत और बांग्लादेश के बीच रेल सेवा रोक दी है और साथ ही पाकिस्तान, भूटान, नेपाल, म्यांमार और बांग्लादेश के साथ लगते बॉर्डर को सील कर दिया गया है.