क्या है लखनऊ हिंसा का पश्चिम बंगाल कनेक्शन, DGP ने खोले राज़

567

लखनऊ में 2 दिन पहले हुए हिंसा को देखते हुए UP के DGP ओपी सिंह का कहना है कि लखनऊ में जो हिंसा हुई है उसमें पश्चिम बंगाल से आये लोगो की साजिश देखी गई है. इसके अलावा कुछ और जिलों जैसे कि बाराबंकी, बहराइच से भी आये लोगो ने हिंसा की है.जिन्होंने नागरिकता संशोधन अमेंडमेंट एक्ट (CAA) उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में गुरूवार को हिंसक प्रदर्शन किया और इसपर DGP का कहना है कि लखनऊ से अभी तक 218 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है और इसमें बाहरी लोग भी शामिल हैं इसकी जानकारी सिंह के द्वारा दी गई है.

शांति का शहर लखनऊ जहाँ पर हिंसा करने वाले लोग बाहर के प्रदेश से आये थे और इन्ही लोगों ने हिंसा को अंजाम दिया है. हिंसा को देखते हुए अपर मुख्य सचिव गृह सचिव अवनीश अवस्थी और DGP ओपी सिंह ने कहा गुरूवार को हुए प्रदर्शन को मद्देनजर रखते हुए प्रदेश में उन जगहों पर जो छतिग्रस्त हुई है, जैसे ठाकुरगंज, हसनगंज (पुराना लखनऊ) में पुलिस द्वारा फ्लैग मार्च किया गया है. इस दौरान पुलिस टीम के साथ एटीएस कमांडो और रैपिड एक्शन फ़ोर्स पीएसी के जवान भी शामिल हुए. DGP का कहना है की लखनऊ में हालत पूरी तरह से नियंत्रण में है.  प्रभावित इलाकों में भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है.

अपर गृह सचिव अवनीश अवस्थी ने कहा कि लखनऊ में स्थिति  नियंत्रण में है और जिन लोगों ने ये हिंसा फैलाई उन लोगो की हरकतें कैमरे में कैद कर ली गई हैं और सबकी पहचान भी हो गई है.इन सब लोगो के उपर  कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

वहीँ इस हिंसा के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी एक प्रेस कांफ्रेंस कर के ये कहा की जिन लोगों ने सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुँचाया है उन लोगों के ऊपर कड़ी से कड़ी कार्रवाई  की जाएगी और उनकी निजी संपत्ति को सरकार द्वारा जब्त किया जायेगा.