कोरोना ने पूरी दुनिया में इस समय हाहाकार मचा रखा है. सरकार एक के बाद एक बड़ा कदम उठा रही है और पब्लिक ट्रांसपोर्ट जैसी सुविधाओं को बंद कर रही है जिससे एक साथ ज्यादा लोग एक जगह एकत्रित ना हो और ये वायरस और लोगों में न फैले. वहीं केंद्र सरकार और राज्य सरकारें लगातार लोगों से अपील कर रही हैं कि वह इस मुश्किल भरे समय में घर में ही रहें.

जानकारी के लिए बता दें कोरोना के डर के चलते लोगों ने खुद को घरों में कैद कर लिया है. हालाँकि सरकार लोगों से अपील उनकी भलाई के लिए ही कर रही है नहीं तो ये वायरस पलभर में ही लोगों में फ़ैल जाता है. वहीं सरकार ने यात्रा और धार्मिक स्थल पर जाने से लोगों को मना किया है. देश के कई जिलों को इस समय लॉकडाउन किया गया है लेकिन संसद की कार्यवाही ऐसे समय में भी जारी है. जिसके चलते कई पार्टियों ने अपने सांसदों को लेकर बड़ा फैसला लिया है.

दरअसल 26 मार्च को राज्यसभा चुनाव होने हैं जिसके चलते सभी राजनैतिक दल पिछले काफी समय से तैयारियों में जुटे हुए थे लेकिन इस स्थिति के बीच लोगों का घर से निकलना मुश्किल है. इसी बीच कांग्रेस के राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने ट्वीट कर राज्यसभा न आने का खेद व्यक्त करते हुए बड़ी बात कह दी है. जिसे जानकर अन्य सांसद भी ऐसा कदम उठा सकते हैं.

कांग्रेस के राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने सोमवार को सुबह ट्वीट करते हुए कहा कि मैं राज्यसभा चेयरमैन से माफ़ी मांगना चाहता हूँ. मेरा परिवार मुझे आइसोलेशन रुल तोड़ने से मना कर रहा है और संसद जाने से भी मना कर रहा है. उन्होंने कहा है कि आपको पिछल हफ्ते संसद स्थगित करनी चाहिए थी. मेरी अनुपस्थिति को माफ़ करेंगे. यही चिंता अन्य लोगों को भी हो रही है. गौरतलब है कि विवेक तन्खा के अलावा अन्य कई दलों के सांसदों ने भी संसद आने को मना कर दिया है. कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप ने इस समय पूरी दुनिया के लोगों को अलग-थलग कर दिया है. दिल्ली को पूरी तरह से लॉकडाउन किया गया है. 31 मार्च तक सभी पैसेंजर ट्रेनें बंद करने का ऐलान है वहीं सभी बस सर्विस भी बंद हैं. इस समय देश बेहद ही बुरी स्थिति से गुजर रहा है.