विश्वकप के बाद विराट को लेकर BCCI ने लिया ये कड़ा फैसला

3364

विश्वकप के सेमीफाइनल में मिली हार भारत के करोड़ो खेलप्रेमियों के दिलों को तोड़ गयी। पूरे टूर्नामेंट में शानदार खेल दिखाने वाली टीम इंडिया को सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों करारी शिकस्त मिली। इस हार को लेकर BCCI भी मंथन कर रही है। कहाँ कमी रह गयी इस पर विचार चल रहा है। आखिर क्या वजह रही की बड़े मैच का प्रेशर टीम झेल नही पाई और ताश के पत्ते की तरह ढेर हो गयी।

इन्ही सब के बीच भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली को लेकर एक चौकाने वाली खबर आ रही है। सूत्रों के मुताबिक BCCI नया कोच चुनने जा रही है। बोर्ड रवि शास्त्री के प्रदर्शन से कतई खुश नही है। ऐसे में नए कोच की तलाश शुरू हो चुकी है। और इस बार कोच चुनने में विराट को अलग रखा गया है। इस बार विराट की पसंद नापसंद का ख्याल नही रखा जाएगा। बोर्ड इस बार कोच अपनी मर्जी से चुनेगा। नए कोच की घोषणा होने तक इंतजार करिये कुछ ही दिनों में पता चल जाएगा भारत के क्रिकेट टीम का अगला कोच कौन होगा।

वहीं बीसीसीआई के एक अधिकारी ने इस बात का खुलासा किया है कि नए हेड कोच को लेकर इस बार कप्तान विराट कोहली की मनमानी भी नहीं चलेगी। पिछली बार जब पूर्व क्रिकेटर और टेस्ट टीम के कप्तान अनिल कुंबले ने टीम इंडिया के हेड कोच के पद से इस्तीफा दिया था तो विराट ने नए कोच को तय करने में दखल दिया था। टीम इंडिया ने आईसीसी विश्व कप 2019 के सेमीफाइनल तक का सफर तय किया। सेमीफाइनल में टीम को न्यूजीलैंड के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा। इसके बाद से ही रवि शास्त्री के रोल पर भी सवाल खड़े होने लगे।

ऐसे में बीसीसीआइ ने साफ कर दिया है कि विराट अब भारतीय टीम के हेड कोच के सलेक्शन प्रोसेस में दखल नहीं दे पाएंगे। हेड कोच की नियुक्ति करने का फैसला कपिल देव का होगा, जो सपोर्ट स्टाफ को नियुक्त करने वाले तीन दिग्गजों की टीम के मुखिया बनाए गए हैं। कपिल देव का फैसला विराट ही नहीं, बल्कि टीम के हर सदस्य को मानना होगा। आखिरी फैसला सुप्रीम कोर्ट द्वारा अपॉइंट की गई कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर्स यानी सीओए का होगा। बीसीसीआई अधिकारी के मुताबिक, ‘पिछली बार कप्तान विराट कोहली ने अनिल कुंबले के साथ अपनी और टीम की परेशानी का जिक्र किया था। लेकिन, इस बार नए कोच को लेकर वो कुछ नहीं कर पाएंगे। आखिरी फैसला कपिल देव वाली कमेटी को करना है जो विराट की एक नहीं सुनेंगे।’

गौरतलब है कि 2017 में जब अनिल कुंबले कोच थे, तब विराट से अनबन के चलते उन्हें अपना पद छोड़ना पड़ा था। विराट कोहली की ही पसंद पे रवि शास्त्री को कोच बनाया गया। उसके बाद रवि शास्त्री ने अपनी पसंद के हिसाब से बॉलिंग कोच को नियुक्त कराए थे। बोर्ड के इन बदलावों के बाद देश के सभी क्रिकेट प्रेमी ये उम्मीद कर सकते है कि आने वाले समय मे भारतीय टीम और बेहतर प्रदर्शन करेगी। साथ ही साथ बड़े मैच के दवाब भी अब आसानी से झेल सकेगी।