आज तक के इस महिला पत्रकार की रिपोर्टिंग देखकर आप हैरान रह जायेंगे! वीडियो हुआ वायरल

530

प्रियंका गांधी की राजनीति में प्रत्यक्ष रूप से एंट्री हो चुकी है. राहुल गाँधी की बहन प्रियंका की एंट्री को मीडिया का एक हिस्सा बड़े चाव से चला रहा है. भाई वाकई खबर ही ऐसी है. ग्राउंड रिपोर्टिंग की जा रही हैं… लोगों के उत्साह को दिखाया जा रहा है लेकिन…क्या जोश वाकई असली है…. टीवी पर दिखाई दे रहे प्रियंका गांधी जिंदाबाद चिल्लाते लोग खुद चिल्ला रहे हैं या उन्हें कोई चिल्ल्वा रहा हैं.
यह सवाल तब उठ रहा है जब सोशल मीडिया पर आज तक की रिपोर्टर का एक वीडियो सामने आया है. यहाँ उन्होंने क्या इतिहास रचा हैं, आगे बढ़ने से पहले एक झलक आप देख ही लीजिये
आया कुछ समज में…हम बताते हैं. दरअसल ये वीडियो उस वक्त का है जब प्रियंका गांधी को महामंत्री बनाया गया. इसके बाद आज तक की ये महिला रिपोर्टर…हाथ में प्रियंका गांधी की फोटो लिए कुछ लोगों के पास पहुंची… यहाँ से शायद पत्रकार महोदया लाइव करना चाहती थी और दर्शको को दिखाना चाहती थी कि लोगों में कितना जोश है लेकिन उन्हें टीवी पर दिखाने लायाक माहौल नही मिल पा रहा था..बस फिर क्या था उन्होंने वहां मौजूद लोगों को खुद ट्रेनिंग देना शुरू कर दिया और टीवी पर दिखाने लगी कि देखिये कितना जोश हैं कार्यकर्ताओं में,प्रियंका गांधी के राजनीति में आने से!
देखिये आज तक के चैनल पर खबर किस तरह से चलायी गयी.

भीड़ से ज्यादा उत्साह तो आज तक की महिला रिपोर्टर दिखा रही है. और अपना उत्साह लोगों के जरिये अपने दर्शकों को दिखाना चाह रही हैं. सामने आये इस वीडियो को देखकर यही अंदाजा लगाया जा सकता है.
अब सोचने वाली बात तो यह है कि चैनलों पर दिखाए जा रहे इस तरह के वीडियो पर कितना भरोसा करें. आखिर आज तक जैसे बड़े चैनल के पत्रकार द्वारा इस तरह की स्क्रिप्टेड खबरें दिखाना आखिर कितना सही है! अगर वाकई कार्यकर्ताओं में जोरदार जोश था तो कार्यकर्ताओं को सिखाने की जरूरत क्यों आन पड़ी
हम यहाँ यह भी सवाल खड़ा कर सकते ही हैं कि जब कार्यकर्ताओं का जोश झूठा दिखाया गया लेकिन क्या कार्यकर्ता असली थे? ये बड़ा सवाल है. खैर आप भी सोचिये कि क्या वाकई प्रियंका गांधी के पार्टी में आने से कार्यकर्ता सच में खुश हुए हैं या बस आपको दिखाने के लिए खुश किये गये हैं.

देखिये ये वीडियो

हालाँकि लंबे इतंजार और कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के काफी डिमांड के बाद प्रियंका गांधी को राजनीति में उतारा गया है और उत्तर प्रदेश के पूर्वी क्षेत्रों की जिम्मेदारी सौंपी गयी है. अब देखने वाली बात हैं जल्द ही होने जा रहे लोकसभा चुनाव में कांग्रेस इसका कितना फायदा उठा पाती हैं. पिछले कुछ चुनावों में कांग्रेस की जो स्थिति रही हैं उसे देखकर कांग्रेस के आलाकमान ने प्रियंका को प्रत्यक्ष रूप से राजनीति में लाने का फैसला लिया है.

अब देखने वालोई बात तो यह है कि प्रियंका गाँधी के राजनीति में उतरने के बाद कांग्रेस की कितना फायदा मिल सकता है. प्रियंका गाँधी के राजनीति में उतरने का एलान भी उस वक्त किया गया है जब वे खुद भारत में मौजूद नही हैं/