वंदे भारत एक्सप्रेस का 1 साल हुआ पूरा, कमाई के साथ बना डाला ये रिकॉर्ड

1267

केंद्र में बीजेपी की सरकार आने के बाद से भारतीय रेलवे को लेकर लगातार कदम उठाये गया हैं जिससे हर दिन रेलवे की दशा सुधरती जा रही है. केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल की अगुवाई में भारतीय रेलवे ने कामयाबी के बहुत झंडे गाड़े हैं. यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए रेलवे हर दिन कोई ना कोई बड़ा फैसला ले रही है. मोदी सरकार के नेतृत्व में वंदे भारत ट्रेन को चलाया गया था जिसने कई रिकॉर्ड कायम कर दिए हैं.

जानकारी के लिए बता दें मोदी सरकार में भारतीय रेलवे के लिए दी गयी ख़ास ट्रेन वंदे भारत का निर्माण भारत में ही हुआ है. रेलवे की इस ट्रेन की अन्य देशों ने काफी सराहना की थी और जमकर पसंद किया था. नई दिल्ली से पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी तक को चलने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस ने एक साल पूरा कर लिया है. इस एक साल के अंतराल में वंदे भारत ने कमाल कर दिया.

वंदे भारत ने एक साल में कमाई के कई रिकॉर्ड बनाये हैं. स्वदेशी टेक्नोलॉजी से बनी इस ट्रेन ने रेलवे को बंपर कमाई करवाई है. वंदे भारत ने एक साल में 92 करोड़ रूपये से ज्यादा की कमाई की है. दिल्ली से वाराणसी तक चलने वाली वंदे भारत देश की पहली सेमी हाईस्पीड ट्रेन है, जिसका उद्घाटन पिछले वर्ष 17 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया गया था.

गौरतलब है कि वंदे भारत के एक साल पूरे होने पर प्रयागराज रेलवे स्टेशन पर रेलवे की तरफ से ट्रेन का स्वागत किया गया. प्रयागराज स्टेशन पर पहुँचते ही प्रयागराज मंडल के डीआरएम समेत दूसरे अधिकारी मौजूद रहे और उन्होंने ट्रेन में बैठे यात्रियों का गुलदस्ता और चोकलेट देकर स्वागत किया. वंदे भारत का सबसे बड़ा रिकॉर्ड ये है कि ये ट्रेन पूरे साल में एक बार भी रद्द नहीं हुई. इसकी औसतन स्पीड 104 किलोमीटर प्रतिघंटा है.