भ्रष्टाचार पर योगी आदित्यनाथ का बड़ा वार, भ्रष्ट अधिकारियों में मचा हडकंप

1550

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्टाचार पर बड़ा प्रहार करते हुए 13 अधिकारियों को निलंबित कर दिया है. मुख्यमंत्री ने ये कारवाई  बदायूं कोषागार में स्टांप मैनुअल का अनुपालन न करने और कार्य में लापरवाही बरतने के कारण किया. साथ ही निलंबित अधिकारियों के खिलाफ विभागीय जांच के भी आदेश दिए हैं. इसके अलावा उन बीमा कंपनियों के खिलाफ भी कारवाई का आदेश दिया गया है जो किसानों को बीमा क्लेम देने में आनाकानी कर रहे थे.

बदायूं कोषागार के जिन 13 अधिकारियों को निलंबित किया गया है उनमे से 3 वरिष्ठ कोषाधिकारी थे. इन पर 5 करोड़ रुपये के गबन का आरोप है. इसी मामले में ही तहसीलदार स्तर के 10 अधिकारियों को भी निलंबित करके उनके खिलाफ भी विभागीय जांच की जाएगी. मुख्यमंत्री ने सर्वाहित बीमा किसान बीमा योजना का क्लेम देने से आनाकानी करने वाले बीमा कंपनियों के खिलाफ भी कारवाई का आदेश दिया है. बाराबंकी से बड़ी संख्या में शिकायत आ रही थी कि किसानों को बीमा क्लेम नहीं दिया जा रहा है.

इस कारवाई को भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई के रूप में देखा जा रहा है. योगी सरकार शुरू से ही भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टोलरेंस कि नीति के तहत काम कर रही है. सरकार की कैवाई देख कर भ्रष्ट अधिकारियों में भय व्याप्त है.