प्रवासी मजदूरों के मुद्दे पर प्रियंका गाँधी ने योगी सरकार पर लगाये आरोप तो CM योगी ने पलटवार कर बंद कर प्रियंका की बोलती

1985

प्रवासी मजदूरों को लेकर सि’यासी जं’ग तेज़ हो गयी है. जिसके बाद एक बार फिर कांग्रेस और योगी सरकार के बीच निशा’नेबाजी का माहौल बन गया है. दरअसल गाजियाबाद में मजदूरों की भीड़ उम’ड़ जाने को लेकर कांग्रेस पार्टी ने उत्तर प्रदेश सरकार पर निशा’ना सा’धा था. जिस पर योगी सरकार ने पटलवा’र किया है.

दरअसल कांग्रेस पार्टी से प्रियंका गांधी ने ट्वी’ट कर योगी सरकार पर नि’शाना सा’धते हुए लिखा कि जब हमने 1000 बसें देने का प्र’स्ताव रखा तो उसे ठुक’रा दिया गया था, लेकिन अब मजदूरों के लिए यूपी सरकार खुद ही व्य’वस्था नहीं कर पाई है. जिस पर योगी सरकार की तरफ से प’लटवार करते हुए कांग्रेस पार्टी से कुछ सवा’ल किये गए

जिसमें पूंछा गया कि क्या कांग्रेस पार्टी औरैया में हुई दुर्घ’टना की जिम्मेदा’री लेगी? जब आपके पास 1000 बसें थीं, तो राजस्थान और महाराष्ट्र से ट्रकों में भरकर हमारे साथियों को उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड व बंगाल क्यों भेज रहे हैं? इसके अलावा कांग्रेस पार्टी से पूंछा गया कि देशभर में जितनी भी श्र’मिक स्पेशल ट्रेनें चल रही है उनमें से आधी से ज्यादा ट्रेनें उत्तर प्रदेश ही आईं है. अगर प्रियंका वाड्रा जी को हमारी इतनी ही चिं’ता है तो वो हमारे बाकी साथियों को भी ट्रेनों से ही सुर’क्षित भेजने का इं’तजाम कांग्रेस शा’सित राज्यों से क्यों नहीं करा रहीं?

जाहिर है ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब कांग्रेस और योगी सरकार आमने सामने आई हो इससे पहले भी कई बार प्रियंका गाँधी योगी सरकार पर उं’गली उठती दिखाई दी है साथ ही हर बार UP सरकार की तरफ से उन्हें करा’रा जवाब भी मिला है. वही बता दें योगी सरकार ने इस मुश्कि’ल के वक्त में रा’जनीति को छोड़ के मजदू’रों की परे’शानियों को देखते हुए 1000 बसों के प्र’स्ताव की बात को मान लिया है और योगी सरकार ने इसके लिए अफसरों से बसों की लि’स्ट भी मांगी है.