भारत और चीन के बीच बिगड़े हालात पर आया अमेरिका का बयान, अमेरिका ने कहा…

3233

लद्दाख के गलवान घाटी में सोमवार को भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हुई झ’ड़प में करीब 20 भारतीय सैनिक श’हीद हो गए जबकि चीन को भी भारी नु’कसान उठाना पड़ा है. चीन के 40 से अधिक जवानों की मौ’त हो गई या घा’यल हैं. हालाँकि चीन ने अपने सैनिकों की संख्या जारी नहीं की है. लेकिन LAC पर जिस तरह से चीनी हेलिकॉप्टर ह’ता’हतों को ले कर जा रहे हैं उससे ये पता चल रहा है कि चीन को नु’कसान ज्यादा हुआ है और अपनी अपनी फजीहत से बचने के लिए अपने घा’यलों और मृ’त सैनिकों की संख्या छुपा रहा है. वैसे भी चीन में मीडिया पर पाबंदी है. वहां वही ख़बरें प्रकाशित होती है जो सरकार चाहती है.

इधर भारत और चीन के बीच बिगड़े हालात के बाद अमेरिका की प्रतिक्रिया भी आ गई है. अमेरिका ने दोनों देशों के बीच विवादों के शांतिपूर्ण समाधान की उम्मीद जताई है. अमेरिका के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, “भारत और चीन दोनों देशों ने तनाव को कम करने की इच्छा जताई है और हम वर्तमान स्थिति के शांतिपूर्ण समाधान का समर्थन करते हैं. अमेरिका मौजूदा स्थिति पर “बरीकी से नजर” रख रहा है. भारत के 20 जवानों के ज’वान गं’वाने पर उन्होंने कहा कि उनके परिवारों के साथ हमारी संवेदनाएं हैं.’

इधर मामले के शांतिपूर्ण समाधान के लिए हो रही बातचीत का कोई नतीजा नहीं निकल पाया है. भारत ने हिमाचल के स्पीती और किनौर जिलों से लगती चीन अधिकृत तिब्बत की सीमा पर अलर्ट जारी कर दिया है. सैनिकों की संख्या बढ़ा दी गई है. इधर श्रीनगर और लेह हाइवे को भी आम लोगों के लिए बंद कर दिया गया है. भारत ने लद्दाख से लेकर अरुणाचल प्रदेश तक सेना को अलर्ट पर रखा है.