अमेरिकी ठिकाने पर ह’मले की सामने आई सैटेलाईट तस्वीरें, ईरानी मि’सा’इल हो गए फुस्स

2170

अमेरिका से ब’दला लेने के लिए ईरान ने इराक में मौजूद अमेरिकी सैन्य ठिकाने अल-असद-एयरबेस पर बै’ले’स्टिक मिसा’इलें दा’गी और दावा किया कि इस ह’मले में अमेरिका के 80 सै’निक मा’रे गए. लेकिन अमेरिका ने इस दावे को खारिज करते हुए कहा कि एक भी अमेरिकी सैनिक की मौ’त नहीं हुई. अब इस ह’म’ले की सैटेलाईट तस्वीरें सामने आई हैं जिसके देख ईरान के दावे की हवा निकलती दिख रही है.

सैटेलाईट से प्राप्त तस्वीरों में अमेरिकी सै’न्य ठिकाने पर कुछ इमारतों को नु’कसान पहुंची तो दिख रही है लेकिन वो उतनी नहीं है जितना कि ईरान दावा कर रहा है. कुछ इमारतें पूरी तरह ध्व’स्त हो गई हैं लेकिन उसके आस पास की इमारतें सही सलामत है. ऐसा लगता है कि ईरान ने जो मि’सा’इलें दागी थी वो कम ताकतवर थी.

कई मि’सा’इलें इधर उधर भी गिरी हैं. कुछ मिसा’इलें सैन्य अड्डे से करीब 30 किलोमीटर दूर अलहीत गाँव के पास भी गिरी. लेकिन वो मिसा’इलें फ’टी नहीं इसलिए वहां कुछ नुक’सान नहीं पहुंचा. अलहीत गाँव के पास गिरी मिसा’इलें गिरते ही दो टुकड़ों में बंट गई और फ’टी नहीं. क्योंकि आस पास के घरों को किसी भी तरह का नुक’सान नहीं पहुंचा.

ज्यादा नुक’सान नहीं पहुंचा इसलिए अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प शांति की बातें कर रहे हैं. अगर व्यापक नुक’सान हुआ रहता तो बदला राष्ट्रपति ट्रम्प के तेवर जरूर बदल गए होते. हालांकि ट्रम्प के शांति की बातों के जवाब पर ईरान का कहना है कि अभी तो ये शुरुआत है.