CAA विरो’धियों ने ज’ला डाली दिल्ली, इन इला’कों में लगी धा’रा 144

1029

शाहीन बाग के बाद दिल्ली के कई इ’लाकों में सीएए के वि’रोध प्र’दर्शन को लेकर उत्तर पूर्वी दिल्ली ज’लती हुई नजर आ रही हैं. हा’लात इस कदर बेका’बू हैं कि अब वि’रोध करने वाले लोग ध’र्म पूछकर मारपीट और हिं’सा पर उतर आयें है. नागरिकता कानून संशोधन (सीएए) को लेकर शुरु हुआ ब’वाल उत्तर पूर्वी दिल्ली में अब खत’रनाक मंजर अख्ति’यार करता जा रहा है. उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सोमवार को जमकर हिं’सा हुई. मंगलवार को भी मौजपुर और ब्रह्मपुरी इलाके में पत्थ’रबा’जी शुरू हो गई. दिल्ली हिं’सा में अबतक 7 लोगों की मौ’त हो चुकी है, जिसमें हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल भी शामिल हैं. साथ ही 100 से ज्यादा लोग घायल हो चुके है.

इस पूरे बवाल को लेकर गृह मंत्री अमित शाह से लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल और दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ये तीनो एक साथ मीटिंग कर के दिल्ली के हालत पर काबू पाने की कोशिश करेंगे. वहीँ दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने आ’पात बैठक बुलाई और इस बैठक में उन्होंने बीजेपी पर निशा’ना साधते हुए कहा कि दिल्ली पुलिस को ऊपर से कोई आदेश नहीं मिला है, जिसकी वजह से दिल्ली पुलिस कार्य’वाई नहीं कर पा रही है.  केजरीवाल ने आगे कहा है कि सीमाई इलाकों से लोग दिल्ली के अंदर आ रहे हैं और हिं’सा कर रहे हैं. हमने बॉ’र्डर को सील करने और उप’द्रवि’यों पर कार्र’वाई की मांग की है.

उत्तर पूर्वी दिल्ली के इला’कों में एक महीने के लिए धा’रा 144 लागू कर दी गई है. आपको आगे बता दें की सुप्रीम कोर्ट में भी CAA को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचि’का दा’यर कर दी गई है. जिसकी सुनवाई कल होनी है. देखने वाली बात ये है कि अभी भी सभी सरकारे एक दूसरे पर निशा’ने सा’धने से पीछे नहीं हट रहें है. अभी भी लोग सिर्फ इस मु’द्दे को लेकर राज’नीति करते हुए नजर आ रहें हैं. इसपर कोई भी किसी तरह की कार्य’वाई नहीं कर रहें है.

CAA को लेकर पूर्वी दिल्ली में कल 1 कांस्टेबल और 7 लोगो की मौ’त हो गई है. दिल्ली में विरो’ध प्रद’र्शन को लेकर अब क्या गृह मंत्री अमित शाह कोई एक्शन लेंगे और प्रदर्शनकारियों को ह’टने के लिए बोलेंगे और दिल्ली की हा’लात जो बेकाबू हो चुकी है उसको अपने कण्ट्रोल में लायेंगे. क्योकि पिछले दो महीने से ज्यादा दिल्ली में रहेने वाले लोगो का कहना है कि अब दिल्ली में रहेने में ड’र लगने लगा है. क्योकि दिल्ली में वि’रोध प्रद’र्शन थमने का नाम नहीं ले रहा है.