कोटा से वापस आये यूपी के छात्र हुए योगी आदित्यनाथ के फैन, कहा ‘सीएम योगी जैसा कोई नहीं’

1479

3 मई लॉकडाउन ख़त्म होने की आखिरी तारीख है. जैसे जैसे लॉकडाउन ख़त्म होने की तारीख नजदीक आती जा रही है, लोगों ये चर्चाएँ भी तेज होती जा रही है कि क्या 3 मई के बाद लॉकडाउन खुलेगा? हालाँकि अगर कोरोना के बढ़ते मामलों पर नज़र दौडाएं तो लॉकडाउन खुलने की संभावनाएं कम ही दिख रही है. ऐसे हालातों में लॉकडाउन खोलना खतरे से खाली नहीं. शायद राज्य सरकारों को ये अंदाजा हो चूका है कि लॉकडाउन आगे बढाया जा सकता है इसलिए राज्य सरकारें अलग अलग राज्यों में फंसे अपने लोगों को वापस ला रही है. उत्तर प्रदेश सरकार ने भी कोटा में फंसे छात्रों को स्पेशल बस भेज कर वापस बुलवा लिया.

छात्रों के कोटा में फँसे होने से न सिर्फ छात्र परेशान थे बल्कि यहाँ उत्तर प्रदेश के अलग अलग शहरों में बच्चों के माता-पिता भी परेशान थे. लेकिन जिस तरह से योगी सरकार ने बच्चों को उनके घरों तक पहुँचाया उससे बच्चे और उनके माता-पिता सभी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के फैन हो गए हैं.

NBT ऑनलाइन से बातचीत में बच्चों का कहना है कि जब हमारे लिए योगी जी ने बसें भेजी तो बिहार के बच्चों के चेहरे लटक गए. उन्होंने कहा था काश हमारे पास भी कोई योगी जी होते. एक छात्र का कहना है कि जिस तरह से मुश्किल के वक़्त हमारी मदद के लिए योगी जी ने बस भेजी, ऐसा लगा घर का कोई बुजुर्ग हमारी चिंता कर रहा है और हमारी मदद के लिए प्रयास कर रहा है. बच्चों का कहना है कि योगी जी परिवार के मुखिया की तरह हैं.