यूपी में लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों को छोड़ने के बाद बसों के ड्राइवर ऐसे लगा रहे थे सरकार को चूना, हुआ खुलासा

देश में कोरोना का संकट लगातार बरकरार है. हर दिन करीब 10 हजार मरीज बढ़ने के साथ अब देश में कुल मरीजों की संख्या 2 लाख 86 हजार के पार हो चली है. ऐसे में सरकार जनता को लेकर एक के बाद एक बड़े तोहफे दे रही है ताकि किसी को भी इस मुश्किल परिस्थिति में दिक्कत न हो.

जानकारी के लिए बता दें कोरोना महामारी के चलते प्रवासी मजदूरों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार और योगी सरकार ने मिलकर शानदार काम किया है. ट्रेनों से मजदूरों को यूपी पहुंचाया गया और योगी सरकार की उत्तरप्रदेश परिवहन रोडवेज की बसों के माध्यम लोगों को उनके घर तक पहुंचाया गया.

उत्तरप्रदेश की रोडवेज के इस काम के बीच एक बड़ी धांधली सामने आई है. यूपी रोडवेज के ड्राइवरों ने इस दौरान जमकर डीजल चोरी किया. मामला लखनऊ के चारबाग और कैसरबाग बस अड्डे का है. उत्तरप्रदेश परिवहन ने इस मामले में 4 ड्राइवरों को बर्खास्त कर दिया है.

गौरतलब है कि यूपी रोडवेज बसों के ड्राइवरों द्वारा की गई चोरी का खुलासा तब हुआ जब चारबाग रेलवे स्टेशन से श्रमिकों को लेकर बाराबंकी छोड़कर वापस लौटी. इस दौरान बस ने 62 किलोमीटर की दूरी तय की और बस के ड्राइवर ने डीजल की खपत 149 लीटर दिखाई. इस खुलासे के बाद से अब कई अधिकारी भी सकते में आ सकते हैं.