UP सरकार ने SC में कहा दिल्ली वालों के लिए बंद रहेंगे नोएडा-गाजियाबाद बॉर्डर

132

कोरोना वायरस की चपे’ट में आज पूरा देश आ चुका है. जिसकी वजह से कोरोना संक्रमि’तों का आंकड़ा भी 3 लाख के करीब पहुँच गया है. वही हालातों को काबू करने के लिए हर कोशिश की जा रही है. लेकिन स्थिति पर नियंत्रण पाना सं’भव नही हो रहा है. वही दूसरी तरफ देश में राज्य सरकारों ने अपने राज्यों के बॉ’र्डर को खोल दिया है. लेकिन दिल्ली और नॉएडा के बॉ’र्डर अभी भी पहले की तरह ही सील है.

दरअसल नॉएडा और गाजियाबाद से 40 गुना कोरोना के माम’ले दिल्ली में है. ऐसे हालातों को देखते हुए UP सरकार ने बॉर्डर नहीं खोले है. वही दिल्ली और हरियाणा सरकार ने अपने सभी बॉर्डर खोल दिए है. बता दें दिल्ली एनसीआर में राज्यों की सीमा सील करने के मा’मले पर सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि गृह सचिव ने हरियाणा दिल्ली और उत्तर प्रदेश के बीच मीटिंग करवाई.

जिसमें हरियाणा और दिल्ली अपने बॉर्डर खोलने के लिए रा’जी हो गए लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य की स्थिति को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट से कहा कि नोएडा और गाजियाबाद से दिल्ली की यात्रा पर प्रति’बंध जारी रहेगा. इसके अलावा उन्होंने कहा कि राज्य केवल आवश्यक सेवाओं, मीडिया, अधिव’क्ताओं को ही अ’नुमति देगा. जबकि हरियाणा सरकार ने कहा है कि राज्य सभी के लिए बिना किसी प्रति’बंध के दिल्ली से यात्रा करने की अनु’मति देगा.

वही गौतमबुद्ध नगर के डीसीपी ट्रैफिक राजेश एस ने जानकारी देते हुए कहा कि सिर्फ उन्हीं वाहनों की एं’ट्री है जिनके पास बने है. बिना पास वालो को वापस भेज दिया जा रहा है. जाहिर है महाराष्ट्र के बाद दिल्ली में कोरोना से हालात काफी ज्यादा ख़राब हो चुके है. ऐसे में बॉर्डर को सी’ल करना ज्यादा बेहतर है क्यूंकि कोरोना के मरीजो की संख्या में लगातार बढ़ो’त्तरी हो रही है.