रामपुर से सांसद और पूर्व सरकार में मंत्री रहे आजम खान की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही हैं. एक के बाद एक बड़े झटके उन्हें मिलते जा रहे हैं. फर्जी प्रमाण पत्र दिखाने के मामले में आजम खान उनकी पत्नी और बेटे अब्दुल्ला आजम इस समय जेल में हैं. जेल जाने के बाद उनपर बड़ी कार्रवाई होती जा रही हैं. सपा सरकार में हुई जल निगम भर्ती में अनियमितता होने के चलते आजम खान दोषी पाए गये हैं. जिसके बाद योगी सरकार ने इस भर्ती को रद्द कर दिया अब इसी बीच एक और बड़ी खबर आ रही है.

जानकारी के लिए बता दें उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार आने के बाद से ही सीएम योगी अपने तबाड़तोड़ फ़ैसले को लेकर जाने जाते हैं. वहीं अब रामपुर में स्थित आजम खान की जौहर यूनिवर्सिटी पर भी सरकार बड़ा शिकंजा कस सकती है. दरअसल किसानों और गरीब लोगों की अवैध रूप से जमीन दबाए जाने पर भी जौहर यूनिवर्सिटी पर बुलडोजर चल चुका है. अब योगी सरकार ने जौहर यूनिवर्सिटी को अपने कब्जे में लेने की तैयारियां शुरू कर दी हैं.

सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार ये बताया गया है कि रामपुर में बनी इस यूनिवर्सिटी में सरकार का पैसा लगा है, जिसके बाद से आजम खान पर संकट के बादल घिरते नजर आ रहे हैं. छात्रों के हित को देखते हुए योगी सरकार इसे अपने अंडर में लेकर बड़ी कार्रवाई कर सकती है. वहीं किसानों की शिकायत के बाद जांच पड़ताल हुई तो जौहर यूनिवर्सिटी के आस-पास दबाई गयी जमीन को वापस दिलाये जाने का काम भी प्रशासन कर रहा है.

गौरतलब है कि सपा सरकार में मंत्री रहे आजम खान की यूनिवर्सिटी काफी समय से विवादों में रही है. आजम खान पर ये भी आरोप है कि उन्होंने सरकारी जमीनों पर कब्ज़ा करके जौहर यूनिवर्सिटी का निर्माण करवाया है. जिसके चलते यूपी सरकार की तरफ से कार्रवाई की तैयारी शुरू कर दी गयी हैं. अभी हाल ही में सरकारी जमीन पर बनी जौहर यूनिवर्सिटी की एक दीवार को जिला प्रशासन ने बुलडोजर से गिरवा दिया था.