कांग्रेस के इन बड़े नेताओं पर कमेंट से बवाल, ओबामा पर FIR के लिए को’र्ट में अ’र्जी

81

यूपी के प्रतापगढ़ जिले की को’र्ट में पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के खिलाफ शि’का’य’त दर्ज कराई गई है. बता दें कि ये FIR, ऑल इंडिया रूरल बार असोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ज्ञान प्रकाश शुक्ल ने लालगंज दीवानी कोर्ट में परिवाद दा’खि’ल किया है. यह परिवाद ओबामा की किताब से जुड़ा है. इस पर पहली दिसंबर को सुनवाई होगी.

द’र’अ’स’ल ऑल इंडिया रूरल बार असोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष  का कहाना है कि ओबामा ने राहुल गांधी और पूर्व मुख्यमंत्री मनमोहन सिंह के खि’ला’फ बयान देकर भारतीय निर्वाचन प्रणाली की अवहेलना की है और नि’र्वा’च’न आयोग जैसे नियामक संस्था के साथ संविधान की भी व्यवस्था पर बड़ा स’वा’ल उठाया है.

उनका कहना है कि ओबामा ने मनमोहन सिंह और राहुल गांधी के बारे में जो कहा है वो काफी अ’प’मा’न’ज’न’क और हमारे देश की संप्रभुता पर प्र’हा’र है. अपनी बात में उन्होंने आगे कहा देश में इन नेताओं के लाखों समर्थक हैं जो ओबामा की बात से आ’ह’त हुए हैं, अगर वो इस बात से आ’ह’त या नाराज होकर सड़क पर उतर आए तो समाज में अ’रा’ज’क’ता पैदा हो सकती है, इसलिए ओबामा के खि’ला’फ शिकायत दर्ज की जाए.   

गौरतलब है कि ज्ञान प्रकाश शुक्ल इस बात को लेकर काफी ए’क्श’न में नजर आ रहे हैं. उन्होंने बड़ी बात कहते हुए कहा कि पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति के खिलाफ आ’प’रा’धि’क मुकदमा दर्ज किया जाए, वरना मैं लोकतांत्रिक प्रक्रिया के तहत अमेरिकी दूतावास के बाहर आ’म’र’ण अनशन करूंगा. उन्होंने बताया कि ससे पहले उन्होंने लालगंज को’त’वा’ली में भी शिकायत की, लेकिन कोई का’र्य’वा’ही नहीं हुई. 

जानकारी के लिए बता दें कि ये मामला ‘ए प्रॉमिस्ड लैंड’ नामक आत्मकथा पर लिखी किताब से शुरु हुआ है. दरअसल राष्ट्रपति पद से हटने के बाद बराक ओबामा ने अपनी आत्मकथा ‘ए प्रॉमिस्ड लैंड’ लिखी है. इसमें उन्होंने अपने जीवन के अनुभवों को शेयर किया है. इस किताब की केवल विदेश में नहीं बल्कि भारत में भी काफी च’र्चा है. अब इसके पिछे क्या वजह है ये हम आपको बतते हैं. इस किताब के अंदर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, सोनिया गांधी और कांग्रेस नेता राहुल गांधी समेत अन्य कुछ लोगों का जि’क्र है.

बराक ओबामा ने अपनी किताब में कांग्रेस नेता राहुल गांधी का जिक्र करते हुए लिखा है, ‘उनमें एक ऐसे नर्वस और अ’प’रि’प’क्व छात्र के गुण हैं, जिसने अपना होमवर्क किया है और टीचर को इम्प्रेस करने की कोशिश में है. लेकिन गहराई से देखें तो योग्यता की कमी है और किसी विषय पर महारत हासिल करने के जुनून की कमी है’.

बराक ओबामा ने अपनी किताब में लिखा है, ‘व्लादिमीर पुतिन उन्हें एक सख्त और स्मार्ट बॉस की याद दिलाते हैं. वहीं भारत के प्रधानमंत्री रहे मनमोहन सिंह में एक भावशून्य ईमानदारी है, जो उन्हें अलग बनाती है.’

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपनी पुस्तक द प्रॉमिस्‍ड लैंड में भारत के कई दलों और नेताओं पर टि’प्प’णी की हैं. वहीं उनके इन टिप्पणी में कुछ ऐसी बातें लिखी हैं जिससे कांग्रेस के लोगों में नाराजगी दिख रही है. बता दें कि बराक ओबामा की इस पुस्तक में दुनिया के अन्य मामलों पर भी लिखा गया है. यही वजह है कि ये पुस्तक पिछले कुछ दिनों से खाफी सु’र्खि’यों में है.