UP कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष की बढ़ी मुश्किले, लखनऊ कोर्ट ने ख़ा’रिज की जमानत

बीते कुछ दिनों पहले प्रियंका गाँधी और योगी सरकार के बीच घमा’सान मचा हुआ था. दरअसल दोनों के बीच बसों को लेकर वि’वाद हुआ था. जिस पर योगी सरकार ने कांग्रेस पार्टी के प्रस्ता’व को मान लिया और अधिकारियों को बसों की लिस्ट देने की बात कही थी. जिस पर जांच के दौरान कांग्रेस की ओर से भेजे गए बसों के क’थित नंबरों में कई नंबर मोटर साइकल, स्कूटर, थ्री वीलर के मिले थे.

जिसके बाद योगी सरकार ने इस पर कार्यवाई करते हुए लखनऊ के हजरतगंज पुलिस थाने में अजय कुमार लल्लू और प्रियंका गांधी के निजी सचिव संदीप सिंह के खिला’फ आईपीसी की धा’रा 420/467/468 के तह’त धोखा’धड़ी करने के मा’मले में के’स द’र्ज किया गया था. जिस पर अब अजय कुमार लल्लू की जमानत याचिका को लखनऊ में  एमपी-एमएलए कोर्ट ने खारि’ज कर दिया है. इससे पहले कोर्ट ने अजय कुमार लल्लू को 14 दिन की न्यायिक हिरा’सत में भेज दिया था.

जिस पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी ने अजय कुमार लल्लू को हिरा’सत में लिए जाने के खिला’फ वि’रोध करने की बात कही थी साथ ही उन्होंने कहा था कि यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने संघ’र्षशील श्रमिक जीवन बिताकर राजनीतिक मुका’म हासि’ल किया है. 19 मई को यूपी सरकार ने जिस दुर्भा’वना के साथ उन्हें जे’ल में डाला है, वो साफ द’र्शाता है कि वि’पक्ष के सकारा’त्मक सेवाभा’व को यूपी सरकार द्वारा ठुक’राया और दबाया जा रहा है.

हालाँकि इस मा’मले में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को अब लखनऊ एमपी-एमएलए कोर्ट की तरफ से असफ’लता हाथ लगी है.

Related Articles