बस पॉलिटिक्स ने बढाई कांग्रेस की मुश्किलें, UP कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को भेजा गया 14 दिनों के लिए जेल

1977

एक बार फिर प्रवासी मजदूरों को लेकर सि’यासी घ’मासान शुरू हो गया है. दरअसल कांग्रेस और योगी सरकार के बीच बसों को लेकर जं’ग चल रही है. जिसकी वजह से योगी सरकार ने कांग्रेस पार्टी की मु’श्किले और बड़ा दी है. दरअसल कुछ दिन पहले प्रियंका गांधी ने कहा था कि हमने योगी सरकार को 1000 बसे लेने का प्र’स्ताव रखा था. ताकि जो प्रवासी मजदूर पैदल जा रहे है. उनके लिए बस की व्य’वस्था हो सके. जिस पर प्रियंका गाँधी ने आरो’प लगाते हुए कहा कि इसे योगी सरकार ने ख़ा’रिज कर दिया.

हालाँकि योगी सरकार ने कांग्रेस पार्टी के इस प्रस्ताव को मान लिया और अधिकारियों को बसों की लिस्ट देने की बात कही. जिस पर जांच के दौरान कांग्रेस की ओर से भेजे गए बसों के कथित नंबरों में कई नंबर मोटर साइकल, स्कूटर, थ्री वीलर के मिले थे. जिसके बाद योगी सरकार ने इस पर कार्यवाई करते हुए लखनऊ के हजरतगंज पुलिस थाने में अजय कुमार लल्लू और प्रियंका गांधी के निजी सचिव संदीप सिंह के खिला’फ आईपीसी की धा’रा 420/467/468 के तह’त धोखा’धड़ी करने के मा’मले में के’स द’र्ज किया गया था.

जिसके बाद अब लखनऊ पुलिस ने UP कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को गि’रफ्तार कर लिया है और उन्हें 14 दिन की न्यायि’क हिरा’सत में गोसाईंगंज जे’ल में भेज दिया है. अजय कुमार लल्लू को जे’ल भेजने से पहले उनका कोरोना टेस्ट भी करवाया गया था. जिसमें उनकी रिपोर्ट ने’गेटिव आई है.

वही अजय कुमार लल्लू का प’क्ष लेते हुए यूपी कांग्रेस के उपाध्यक्ष पंकज मलिक और वीरेंद्र चौधरी ने कहा कि अजय कुमार लल्लू ने जो मजदूरों के हि’तों के लिए आवाज उठाई है. उनके साथ आज काग्रेस पार्टी के हर एक सदस्य साथ है. कांग्रेस का म’कसद सेवाभाव है और जब तक श्रमिक सड़क पर चलता रहेगा तब तक कांग्रेस पार्टी उनकी मदद करती रहेगी.

जाहिर है कांग्रेस पार्टी की जब 1000 बसों को लेकर पो’ल खुल चुकी है. तब कांग्रेस पार्टी के नेताओं की तरफ से बड़े बड़े बया’न जारी किये जा रहे है. वहीं योगी सरकार ने ये साबित कर दिया है कि वो किसी भी तरीके के धोखा’धड़ी करने वालो के लिए कोई रि’यारत नहीं देगी.