यूनाइटेड नेशंस ने दी पुलवामा हमले के गुनाहगारों को सजा देने की छूट

जिस वक़्त हिंदुस्तान की अवाम सो रही थी उस वक़्त यूनाइटेड नेशंस सिक्यूरिटी काउंसिल की तरफ से एक बहुत बड़ा फैसला लिया गया.. फैसला लिया गया आतंक को पनाह देने वाले पाकिस्तान के खिलाफ.. जिसमें भारत को पुलवामा हमले के गुनहगारों को सजा देने के लिए खुली छूट दे दी गई है और साथ ही अन्य देशों को भी इसमें भारत को सहयोग देने की अपील की है. UNSC का ये फैसला प्रधानमंत्री मोदी की डिप्लोमेसी की जीत है.. और पाकिस्तान के साथ साथ इससे चीन को भी बहुत बड़ा झटका लगा है.. आदत से मजबूर चीन ने इस बार भी सुरक्षा परिषद के इस फैसले में अड़ंगा लगाने की कोशिश की लेकिन उसका एक भी दांव कामयाब नहीं हो पाया और मजबूरन उसे जैश के सरगना मसूद अज़हर के खिलाफ बयान पर दस्तखत करने पड़े। अब पाकिस्तान चारों तरफ से घिर गया है और पूरी दुनिया उसके खिलाफ बोल रही है।

आपको बता दें कि बीते 14 फरवरी पुलवामा में सीआरपीएफ की वेन में हुए हमले से हमारे 40 जवान शहीद हो गए.. और इस आतंकी हमले की ज़िम्मेदारी खुद जैश ए मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर ने ऑडियो टेप रिलीज़ करके ली थी.. बावजूद इसके पाकिस्तान मसूद की गिरफ्तारी ना करके भारत से सबूत की मांग रहा है.. खैर, इसमें नया कुछ भी नहीं है.. आदत से मजबूर पाकिस्तान हमेशा से ही यह करता आया है.. लेकिन अब पाकिस्तान हर तरफ से घिर गया है.. अब हिन्दुस्तान अकेला नहीं है बल्कि आतंक के खिलाफ हमारी लड़ाई में अन्य ताकतवर देश भी भारत के साथ हैं.. UNSC की इस मीटिंग में 15 शक्तिशाली देश मौजूद थे जिसमें पुलवामा हमले में ज़िम्मेदार आतंकियों, षड्यंत्रकारियों और उन्हें संरक्षण देने वाले और आर्थिक मदद करने वालों के खिलाफ बहुत ही सख्त लहजे में कड़ी कार्यवाही करने के लिए भारत को सभी देशो की तरफ से छूट और समर्थन देने के बयान पर हस्ताक्षर किये.

एक तरफ UNITED NATIONS की तरफ से पाकिस्तान को घेरा गया है वही दूसरी तरफ भारत ने पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा भी चीन लिया है और इसी के परिणाम स्वरुप बॉर्डर क्रॉस करके हिन्दुस्तान में लाइ जाने वाले सामान पर एक्साइज ड्यूटी को बढाकर सीधे 200% कर दिया है जिसका सीधा असर पाकिस्तान के कारोबार पर पड़ा है. आपको बता दें कि पाकिस्तान से अरबों रूपये का छुआरा भारत द्वारा खरीदा जाता है.. इन्ही छुआरों से लदे ट्रकों को वाघा बॉर्डर से वापस पाकिस्तान जाना पड़ा.. कारण भारत की तरफ से बढाई गई एक्साइज ड्यूटी.. एयर इससे पाकिस्तान में हडकंप मच गया है और पाकिस्तान की सिट्टी पिट्टी गम हो गई है

भारत द्वारा मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा छीन लेने के बाद पाकिस्तान अब आर्थिक संकटों में घिर गया है जिसका असर रोजमर्रा की चीजों पर पड़ गया है टमाटर का भाव 180 रूपये किलो हो गया है.. इसके अलावा श्रीनगर और मुज्ज़फ्फराबाद के बीच चलने वाली बस सेवा को भी सस्पेंड कर दिया गया है, छुआरों पर एक्साइज ड्यूटी बढ़ गई है तो हिन्दुस्तानी व्यापारियों ने पाकिस्तान से आने वाला सीमेंट भी लौटा दिया.. भारत की तरफ से लिए गए इन सारे फैसलों से पाकिस्तान पर आर्थिक मार पड़ रही है और यह नतीजा है आतंक को अपने देश में पनाह देने का.. जिसका खामियाजा पाकिस्तान की आम जनता भुगतती है.

पुलवामा हमले में शहीद हुए हमारे सैनिकों के बलिदान के प्रतिशोध के लिए भारत की तरफ से उठाये गए सख्त कदमों की यह तो अब शुरुआत भर है और यह चेतावनी है कि भारत अब चुप नहीं बैठेगा.

Related Articles

23 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here