नितिन गडकरी ने दी जानकारी- सड़क की खराबी पर ठेकेदार पर भी लगेगा जुर्माना

1634

जब से देश में नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू किया गया है तब से लोग नियमों को मानने लगे हैं, ट्राफिक नियमों का पालन करने लगे हैं, और जो नही करते..उनका तो आप जानते ही हैं..जुर्माना भरकर जेब अच्छी खासी ढीली हो रही है.लेकिन जब से नया मोटर व्हीकल एक्ट देश में लागू किया गया है तबसे कई तरह के सन्देश सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे थे कि ट्राफिक नियम तोड़ने पर आ लोगों पर जुर्माना लगाया जा रहा है तो खराब सड़क पर जुर्माना किस पर लगेगा? इस सवाल के साथ ही साथ कई तरह के अफवाह सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. उदाहरण के तौर..अगर चप्पल पहनकर गाडी चलाते हैं तो जुरमाना..हाफ शर्ट पहनकर गाडी चलाएंगे तो जुर्माना..इस तरह के कई सन्देश आपके पास आये ही होंगे.. तो आइये इस तरह के वायरल हो रहे फर्जी सन्देश से पर्दा उठाते हैं और आपको इसकी असलियत बताते हैं जिसे परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के twiiter अकाउंट से भी शेयर किया गया है.

सबसे पहला है कि अगर आप आधी बाजू की शर्ट पहन कर गाड़ी चलाते हैं तो आपका चालान नहीं होगा…अगर आप लुंगी-बनयान पहनकर गाड़ी चलाते हैं तो भी आपका कोई चालान नहीं कटेगा…गाड़ी में एक्स्ट्रा बल्ब नहीं रखने पर भी आपका चालान नहीं काटा जायेगा…अगर गाड़ी का शीशा गंदा हो, तब भी आपका चालान नहीं कटेगा…चप्पल पहनकर गाड़ी चलाने पर आपका चालान नहीं कटेगा…

दरअसल नितिन गडकरी की निगाह एक वेबसाइट की हेडलाइन पर पड़ी जिस पर लिखा हुआ था कि अगर आप हाल्फ शर्ट पहनकर गाड़ी चलाते हैं आपका भी हो सकता है चालान.. इसपर नितिन गडकरी ने ट्वीट कर कहा था कि मुझे खेद है, आज फिर हमारे मीडिया के कुछ मित्रों ने सड़क सुरक्षा कानून जैसे गम्भीर विषय का मजाक बनाया है. मेरा सबसे आह्वान है, लोगों की जिंदगी से जुड़े इस गम्भीर मसले पर इस प्रकार गलत जानकारी फैला कर लोगों में भ्रम ना पैदा करें.

इसके साथ नितिन गडकरी के ऑफिस से इस बात की जानकारी दी गयी है. बताया गया कि नए मोटर व्हीकल एक्ट 2019 के तहत सिर्फ आम लोगों के लिए ही पेनाल्टी और जुर्माने की राशि नहीं बढ़ाई गई है बल्कि सड़क के ठेकेदारों द्वारा खराब सड़कें बनाने पर भी जुर्माने की राशि बढ़ाई गई है. अब सड़क बनाने वाले ठेकेदारों पर सरकार निगरानी रखेगी. अगर सड़क के ठेकेदार खराब सड़क, खराब डिजाइन, सड़कों के निर्माण के दौरान खराब सामग्री का इस्तेमाल करेंगे तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई होगी. सड़कों के रख-रखाव में अगर लापरवाही बरती जाती है तो ठेकेदारों पर एक लाख रुपये तक का जुर्माना हो सकता है. यातायात के नए संसोधित नियमों के लागू होने के बाद गडकरी लगातार एक्टिव मोड में दिख रहे हैं. वो लगातार नियमों को लेकर ट्वीट कर रहे हैं. इससे पहले उन्होंने ट्वीट कर कहा था कि फॉल्टी कंपोनेंट और व्हीकल निर्माताओं पर भी जुर्माना लगेगा और जिन नियमों को लेकर भ्रम फैलाया जा रहा है उसकी हकीकत बताने खुद नितिन गडकरी और उनका ऑफिस अब मैदान में आ गया है.. देश में प्रतिवर्ष सड़क दुर्घटनाओं में काफी संख्या में लोगों की मौत हो जाती है. इसकी सबसे बड़ी वजह नियमों का पालन ना करना माना गया है. इसलिए इस नए कानून का मकसद वाहन चालकों को यातायात नियमों का उल्लंघन करने से रोकना है.

जुर्माने की राशि चाहे जितनी भी हो हो लेकिन अगर आप नियमों का उल्लंघन नही करते हैं तो आप पर इसका कोई फर्क नही पड़ेगा लेकिन अगर आप नियमों का उल्लंघन करते हैं तो आपको अपनी जेब ढीली करनी पड़ सकती है.