माल्या पर मोदी सरकार को मिली अब बड़ी सफलता, भारत आएगा विजय माल्या!

325

भगोड़े और पूर्व कांग्रेस सांसद विजय माल्या को भारत वापस लाने कोशिश अब रंग लाने लगी हैं. भारत सरकार को अब माल्या को गिरफ्तार करने में सफलता मिलती दिखाई दे रही हैं. दरअसल लंदन की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत ने 10 दिसंबर को ही माल्या के प्रत्यर्पण की मंजूरी दे दी थी और अदालत ने मामला ब्रिटिश सरकार को भेज दिया था. जिसके बाद माल्या पर खतरा बढ़ता ही जा रहा है और भारत सरकार की कोशिशे रंग लाने लगी रही. अब मिली जानकारी के मुताबिक यूके के गृह मंत्री साजिद जाविद ने भगोड़े विजय माल्या के भारत प्रत्यर्पण की मंजूरी दे दी है. जाविद ने सोमवार को माल्या के प्रत्यर्पण आदेश पर औपचारिक दस्तखत भी कर दिए है.
इस मामले पर बीमार चल रहे अरुण जेटली ने ट्वीट करते हुए कहा कि “माल्या के प्रत्यर्पण का एक और रास्ता साफ हुआ। जबकि विपक्ष शारदा स्कैम के घोटालेबाजों के लिए रैलियां कर रहा है” लेकिन अब विजय माल्या ने भी हेकड़ी दिखाते हुए ट्वीट किया है कि ‘10 दिसंबर 2018 के वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत के फैसले के बाद मैंने अपील करने का अपने इरादे का जिक्र किया था. गृह मंत्री के फैसले से पहले मैं अपील की प्रक्रिया शुरू नहीं कर सकता था. अब मैं अपील की प्रक्रिया शुरू कर सकता हूं.’ अब देखने वाली बात यह है कि भारत सरकार द्वारा आगे क्या कदम उठाया जाता है लेकिन क्या आप जानते हैं कि माल्या पर देश में कितने केस दर्ज हैं. आइये हम आपको एक चार्ट के जरिये समझाते हैं.
माल्या के खिलाफ 6 आरोप


क्रमांक आरोप जांच एजेंसी
1 मनी लॉन्ड्रिंग प्रवर्तन निदेशालय
2 लोन की रकम डायवर्ट सीबीआई
3 किंगफिशर एयरलाइंस में वित्तीय अनियमितताए एसएफआईओ
4 शेयरों की राउंड ट्रिपिंग सेबी
5 सर्विस टैक्स नहीं चुकाया आयकर विभाग
6 विल्फुल डिफॉल्टर डेट रिकवरी ट्रिब्यूनल, बेंगलुरु


इसी के साथ आपको यह भी जानना चाहिए कि माल्या किन बैंकों का कितना कर्जदार है.
माल्या पर इन 5 बैंकों का सबसे ज्यादा कर्ज
बैंक लोन (रुपए)
एसबीआई 1600 करोड़
आईडीबीआई बैंक 800 करोड़
पीएनबी 800 करोड़
बैंक ऑफ इंडिया 650 करोड़
बैंक ऑफ बड़ौदा 550 करोड़


कोर्ट के फैसले तो भारत सरकार को जल्द ही कामयाबी मिलने की उम्मीद हैं. भारत में बड़े पैमाने पर माल्या को
वापस लाने की मांग हो रही है. खुद को फंसता देख माल्या अब कोर्ट में अपील करने की बात कह रहा है. देखने वाली बात है कि कोर्ट से माल्या को क्या जवाब मिलता है. कुछ दिन पहले ही tweet करते हुए शराब कारोबारी विजय माल्या ने ट्वीट किया, ‘हर सुबह मैं पाता हूं कि डीआरटी (कर्ज वसूली अधिकरण) के वसूली अधिकारी ने एक और संपत्ति को जब्त कर लिया। जब्त की गई संपत्तियों का मूल्य 13 हजार करोड़ रुपये के पार कर चुका है। बैंकों ने दावा किया है कि सभी तरह के ब्याजों को मिलाकर उनका नौ हजार करोड़ रुपये बकाया है और इसकी भी समीक्षा की जानी है। यह कितना आगे तक जाएगा? क्या यह न्यायोचित है?

अब ब्रिटेन सरकार के इस मदद माल्या को भारत लाने में भारत सरकार को मदद मिल सकती हैं. हालाँकि माल्या जिस तरह से हेकड़ी दिखा रहा है, उसे देखकर को लगता है कि वो इतनी आसानी से वापस नही आएगा.